समाचार
मोहाली में रॉकेट से चलने वाले ग्रेनेड से पुलिस के खुफिया मुख्यालय पर हमला, जाँच शुरू

पुलिस ने जानकारी दी कि एक रॉकेट से चलने वाले ग्रेनेड ने सोमवार रात चंडीगढ़ के पास मोहाली में पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय पर हमला किया, जिससे इमारत की खिड़की के शीशे टूट गए।

हालाँकि, विस्फोट में कोई घायल नहीं हुआ, जिसे राजनीतिक दलों ने परेशान करने वाला और चौंकाने वाला बताया है। धमाका करीब 7.45 बजे हुआ था।

मोहाली पुलिस ने एक बयान में कहा, “एसएएस नगर के सेक्टर 77 में स्थित पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय में एक मामूली विस्फोट की सूचना मिली। वरिष्ठ अधिकारी मौके पर हैं और मामले की जाँच की जा रही है। फोरेंसिक टीमों को बुलाया गया है।”

पुलिस ने क्षेत्र को घेर लिया है और अलर्ट जारी कर दिया है। एक पुलिस अधिकारी ने संवाददाताओं को बताया कि घटना को लेकर प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। आतंकी हमला के सवाल पर उन्होंने कहा कि जाँच अभी जारी है।”

चंडीगढ़ पुलिस की एक त्वरित प्रतिक्रिया टीम को भी खुफिया कार्यालय भवन के पास तैनात  कर दिया गया। पुलिस ने बताया कि तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है।

यह विस्फोट 24 अप्रैल को चंडीगढ़ की बुड़ैल जेल के पास एक विस्फोटक उपकरण की बरामदगी के बाद हुआ।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने विस्फोट पर दुख व्यक्त किया और मुख्यमंत्री भगवंत मान से घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने को कहा।

पंजाब कांग्रेस प्रमुख अमरिंदर सिंह राजा वारिंग ने कहा, “मोहाली में खुफिया ब्यूरो की इमारत में विस्फोट की खबर परेशान करने वाली है। सभी की सुरक्षा और सलामती के लिए प्रार्थना कर रहा हूं।”

कांग्रेस विधायक सुखजिंदर सिंह रंधावा ने विस्फोट को गहरी सांप्रदायिकता का संकेत करार दिया है।