समाचार
गणतंत्र दिवस समारोह अब नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती 23 जनवरी से शुरू होगा

गणतंत्र दिवस समारोह अब हर वर्ष 24 जनवरी की बजाय 23 जनवरी से आरंभ होगा। इसमें स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस की जयंती भी सम्मिलित होगी।

सरकारी सूत्रों ने शनिवार को जानकारी दी कि यह कदम भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं को याद करने के नरेंद्र मोदी सरकार के ध्यान के अनुरूप है। पहले ही सुभाष चंद्र बोस की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाना शुरू कर दिया गया था।

सत्ता में आने के बाद नरेंद्र मोदी सरकार अब महत्वपूर्ण दिवसों की घोषणा कर चुकी है। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्वीट कर जानकारी दी थी कि हर वर्ष 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में मनाया जाएगा।

सूत्रों ने आगे बताया कि अन्य ऐसे दिन, जिनका पालन एक वार्षिक समारोह बन गया है, उनमें 14 अगस्त को विभाजन भयावह स्मृति दिवस, 31 अक्टूबर को एकता दिवस-राष्ट्रीय एकता दिवस (सरदार पटेल की जयंती), 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस (भगवान बिरसा मुंडा का जन्मदिन), 26 नवंबर को संविधान दिवस, 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस (4 साहिबजादों को श्रद्धाँजलि) सम्मिलित हैं।