समाचार
रिलायंस रिटेल 1488 से 1860 करोड़ रुपये में खरीद सकता है सबवे इंक इंडिया फ्रेंचाइज़ी

सबवे इंक इंडिया फ्रेंचाइज़ी को रिलायंस रिटेल द्वारा 1488 से 1860 करोड़ रुपये (20 करोड़ डॉलर से 25 करोड़ डॉलर) के मध्य की कुल लागत में खरीदने की संभावना है।

ईटी की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्य कार्यकारी अधिकारी जॉन चिडसी के नेतृत्व में सबवे इंक पूरी तरह से पुनः संरचना प्रक्रिया से गुज़र रहा है। इसके अनुसार, खाद्य शृंखला अपने व्यय और कार्यबल में कटौती करना चाह रही है क्योंकि हाल के दिनों में इसकी बिक्री में कथित तौर पर गिरावट आई है।

सबवे भारत में क्षेत्रीय मास्टर फ्रेंचाइज़ी और व्यक्तिगत नेटवर्क की अपनी वर्तमान प्रणाली को बंद करके भारत में एक ही प्रमुख स्थानीय कंपनी के साथ गठजोड़ करना चाह रहा था।

वर्तमान में फास्ट-फूड रेस्त्रां कंपनी विकास एजेंटों की एक मास्टर फ्रेंचाइज़ी प्राप्त करती है। ये एजेंट इन स्टोरों के सीधे मालिक नहीं होते हैं बल्कि उनके संचालन के प्रभारी होते हैं।

सबवे का स्वामित्व अधिकार डॉक्टर्स एसोसिएट्स के पास है। यह कंपनी प्रत्येक फ्रेंचाइज़ी से 8 प्रतिशत आय लेती है। अगर वार्ता सफल रहती है तो रिलायंस रिटेल देश भर में करीब 600 सबवे स्टोर्स के पूरे नेटवर्क को अपने पास ले लेगा।

इस बीच निजी इक्विटी कंपनियाँ, जो पहले खाद्य और पेय बाज़ार में प्रवेश कर चुकी हैं, उन्हें भी सबवे की स्थानीय फ्रेंचाइज़ी के संचालन को प्राप्त करने के अवसर से अवगत कराया गया है।