समाचार
रिलायंस की मीडिया व्यवसाय के विस्तार हेतु ₹12,000 करोड़ जुटाने की योजना- रिपोर्ट

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ प्रसारण और डिजिटल मीडिया दोनों में संचालन को बढ़ाकर अपने मीडिया व्यवसाय का विस्तार करने हेतु वित्तीय निवेशकों से लगभग 12,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है।

मनीकंट्रोल की रिपोर्ट के अनुसार, मजबूत वित्तीय समर्थन के साथ समूह नेटफ्लिक्स, हॉटस्टार और अमेज़ॉन जैसे मंचों के साथ प्रतिस्पर्धा करने की तैयारी कर रहा है।

पूर्व स्टार व डिज्नी इंडिया के चेयरमैन उदय शंकर के साथ 21वीं सेंचुरी फॉक्स के पूर्व सीईओ जेम्स मर्डोक को रणनीतिक साझेदार के रूप में सम्मिलित किया गया, ताकि वे रिलायंस के मीडिया व्यवसाय को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकें।

अभी स्टार-डिज्नी भारत में 18.6 प्रतिशत दर्शकों की हिस्सेदारी के साथ बाजार में अग्रणी है। हालाँकि, ज़ी एंटरटेनमेंट के साथ सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एसपीएनआई) का निकट विलय प्रभावी रूप से एक ऐसी स्थिति बनाएगा, जहाँ एकीकृत इकाई के पास भारतीय बाजार में दर्शकों की हिस्सेदारी 26.7 प्रतिशत होगी।

रिलायंस इन बड़े लोगों के विरुद्ध प्रतिस्पर्धा करेगा और इस प्रक्रिया में यह अपने मीडिया व्यवसाय का सबसे बड़ा शेयरधारक होगा, जबकि वायकॉम 18 संयुक्त उद्यम में इसके साझेदार वायकॉम की हिस्सेदारी कथित तौर पर धीरे-धीरे कम हो रही है।

इसके अतिरिक्त, वायकॉम 18 की स्ट्रीमिंग शाखा वूट फ्रीमियम मॉडल का अनुसरण करती है, जो वूट सलेक्ट पर निःशुल्क कॉन्टेंट के साथ सब्सक्रिप्शन वीडियो ऑन डिमांड (एवीओडी) मंच पर कॉन्टेंट प्रदान करता है।

स्ट्रीमिंग मार्केट में वूट सलेक्ट की कड़ी प्रतिस्पर्धा डिज्नी+हॉटस्टार, अमेज़ॉन प्राइम वीडियो और नेटफ्लिक्स जैसे शीर्ष मंच हैं, जिनके पास क्रमशः लगभग 4.6 करोड़, 2.18 करोड़ और 55 लाख सशुल्क उपयोगकर्ता हैं। हालाँकि, वूट सलेक्ट अब भारत में अन्य स्ट्रीमिंग सेवाओं और अधिक ग्राहकों को जोड़ने के लिए अपनी क्षेत्रीय सामग्री के साथ खेल पोर्टफोलियो दोनों का निर्माण कर रहा है।