समाचार
चीन की अर्थव्यवस्था धीमी पड़ी, तीसरी तिमाही में जीडीपी विकास दर 4.9 प्रतिशत रही

राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो (एनबीएस) ने सोमवार (18 अक्टूबर) को घोषणा की कि निर्माण गतिविधियों में सुस्ती और ऊर्जा की कमी से प्रभावित चीन की अर्थव्यवस्था तीसरी तिमाही में 4.9 प्रतिशत की धीमी गति से बढ़ी है जो एक वर्ष पहले की समान अवधि की तुलना में कम है।

पहली तीन तिमाहियों में जीडीपी 9.8 प्रतिशत बढ़ी। देश की अर्थव्यवस्था पहली तिमाही में 18.3 प्रतिशत की वृद्धि और दूसरी तिमाही में 7.9 प्रतिशत की वृद्धि दर से बढ़ी।

चौथी तिमाही में ड्रैगन की जीडीपी वृद्धि की संभावनाएँ गंभीर आपूर्ति पक्ष चुनौतियों का सामना कर रही हैं, जो पूरे 2021 में चीन की जीडीपी वृद्धि को और नीचे खींच सकती है। गोल्डमैन सेचस ने चीन की चौथी तिमाही के सकल घरेलू उत्पाद के 4.1 प्रतिशत के गत पूर्वानुमान की तुलना में एक वर्ष पहले के अपने अनुमान से घटाकर 3.2 प्रतिशत कर दिया है।

रेटिंग एजेंसी मूडीज़ ने 2022 के लिए जीडीपी विकास दर को प्रभावित करने वाली चीन की विद्युत कटौती को लेकर चेतावनी का संकेत दिया है। साथ ही कहा कि सकल घरेलू उत्पाद के पूर्वानुमानों के लिए इसके जोखिम बड़े हो सकते हैं क्योंकि उत्पादन और आपूर्ति शृंखलाओं में रुकावटें आ रही हैं।

चीन एकमात्र ऐसी अर्थव्यवस्था थी, जिसे 2020 में 2.3 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि के साथ कोविड-19 से हुई आर्थिक मंदी का सामना करते हुए देखा गया था। मार्च 2020 को समाप्त तिमाही में 6.8% संकुचन के बावजूद (जब चीन कोविड के बढ़ते मामलों से निपट रहा था) 2020 के मध्य तक मामलों में काफी कमी आई थी और औद्योगिक क्षेत्र में तेज़ी से बढ़ते निर्यात और मजबूत गतिविधियों से आर्थिक सुधार हुए थे।

चीन ने 2021 के लिए 6 प्रतिशत से अधिक का आर्थिक विकास लक्ष्य निर्धारित किया है।