समाचार
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का प्रथम चरण पूर्ण, दिसंबर 2023 से गर्भगृह में होंगे दर्शन

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय ने जानकारी दी कि अयोध्या में राम मंदिर के पहले चरण की नींव का कार्य पूर्ण हो गया है। अब दूसरे चरण का निर्माण कार्य नवंबर के मध्य तक पूरा कर लिया जाएगा।

उन्होंने आगे बताया कि भक्तों को दिसंबर 2023 से गर्भगृह में भगवान् श्रीराम के दर्शन होंगे।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, मंदिर 360 फीट लंबा, 235 फीट चौड़ा और 161 फीट ऊँचा बनेगा। बहु-राष्ट्रीय समूह लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) इसका निर्माण कार्य कर रहा है।

भव्य राम मंदिर की नींव रखने के लिए आधुनिक तकनीकों का उपयोग किया जा रहा है, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि यह 1,500 से अधिक वर्षों तक संरक्षित रहे।

2023 के अंत तक गर्भगृह में रामलला की मूर्ति स्थापित कर दी जाएगी। नींव रखने की पूरी प्रक्रिया को लगभग 20 परतों में गोल किया जा रहा है।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने पुष्टि की, “अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर का निर्माण कार्य तेज़ गति से चल रहा है। भक्त गर्भ गृह में भगवान् के दर्शन दिसंबर 2023 से कर सकेंगे। पहले चरण की नींव का कार्य समाप्त हो गया है, जबकि दूसरा चरण नवंबर के मध्य तक समाप्त हो जाएगा।”