समाचार
राजस्थान में बसपा ने अपने 6 विधायकों को निर्दलीय प्रत्याशी को मत देने का निर्देश दिया

राजस्थान बसपा ने शनिवार (4 जून) को एक व्हिप जारी करके अपने छह विधायकों से केवल निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा को वोट देने के लिए कहा है, जो 10 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए मैदान में हैं। दरअसल, छह विधायक बसपा उम्मीदवार के तौर पर चुनाव जीते थे लेकिन बाद में वे कांग्रेस के पक्ष में जा मिले।

व्हिप जारी करते हुए बसपा के प्रदेश अध्यक्ष भगवान् सिंह बाबा ने कहा, “छह विधायकों ने वर्ष 2018 के राज्य के चुनावों में बसपा के चुनाव चिह्न पर अपने विधानसभा क्षेत्र में जीत दर्ज की थी। वे अब पार्टी व्हिप के अनुसार ही कार्य करने के लिए बाध्य हैं।”

उन्होंने कहा, “कांग्रेस व भाजपा की नीतियों से बसपा सहमत नहीं है। इस वजह से उनके उम्मीदवारों का विरोध करती है। पार्टी ने व्हिप जारी करके विधायकों को निर्दलीय उम्मीदवार को ही मत देने का निर्देश जारी किया है।”

बसपा के इन छह विधायकों में राजेंद्र गुढ़ा, लखन मीणा, दीपचंद खेरिया, संदीप यादव, जोगिंदर अवाना और वाजिब अली हैं।राजस्थान से राज्यसभा की चार सीटों पर चुनाव 10 जून को होगा।

कांग्रेस ने अपने कई विधायकों और निर्दलीय विधायकों को खरीदने और बेचने से बचाने के लिए उदयपुर के एक होटल में भेज दिया है। बसपा से कांग्रेसी बने छह विधायकों में से केवल एक जोगिंदर अवाना उदयपुर पहुँचे हैं।

राज्यमंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने गुरुवार को नाराजगी जताते हुए कहा था कि कांग्रेस में विधायकों को उचित सम्मान नहीं मिलता है।

कांग्रेस ने उम्मीदवार के रूप में मुकुल वासनिक, रणदीप सुरजेवाला और प्रमोद तिवारी को मैदान में उतारा है, जबकि भाजपा ने पूर्व मंत्री घनश्याम तिवारी व निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल करने वाले मीडिया दिग्गज सुभाष चंद्रा का समर्थन किया है।