समाचार
राजस्थान के खेल मंत्री अशोक चांदना ने गहलोत से ‘ज़लालत’ भरे मंत्री पद से मांगी मुक्ति

राजस्थान में खेल एवं युवा मामलों के मंत्री अशोक चांदना ने गुरुवार रात मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव कुलदीप रांका पर अपने विभाग के मुद्दों पर उन्हें कथित तौर पर दरकिनार करने को लेकर ट्विटर किया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को संबोधित करते हुए अशोक चांदना ने ट्वीट किया, “माननीय मुख्यमंत्री जी मेरा आपसे व्यक्तिगत अनुरोध है की मुझे इस ज़लालत भरे मंत्री पद से मुक्त कर मेरे सभी विभागों का चार्ज श्री कुलदीप रांका जी को दे दिया जाए, क्योंकि वैसे भी वो ही सभी विभागों के मंत्री है। धन्यवाद।”

चांदना खेल और युवा मामलों (स्वतंत्र प्रभार), कौशल (स्वतंत्र प्रभार), रोजगार और उद्यमिता (स्वतंत्र प्रभार), डीआईपीआर, आपदा प्रबंधन और राहत, प्रशासनिक सुधार और समन्वय विभाग, सांख्यिकी, नीति नियोजन मंत्री हैं।

एक सप्ताह में यह तीसरी घटना है, जब किसी कांग्रेस विधायक या मंत्री ने अपनी ही सरकार पर निशाना साधा है। गत सप्ताह युवा कांग्रेस अध्यक्ष और डूंगरपुर के विधायक गणेश घोगरा ने आदिवासियों की समस्याओं का समाधान नहीं करने के लिए सरकारी अधिकारियों को डांटने पर उनके विरुद्ध दर्ज प्राथमिकी के विरोध में मुख्यमंत्री को अपना त्याग-पत्र सौंपा था।

इसी प्रकार बेगुन से कांग्रेस विधायक राजेंद्र सिंह भिदुरी ने बुधवार को मुख्यमंत्री पर विधायकों की उपेक्षा करने का आरोप लगाया था।

ये घटनाक्रम कांग्रेस के लिए चिंता का कारण है। इन घटनाओं ने विपक्ष को राज्य सरकार पर निशाना साधने का मौका दे दिया है।

मंत्री के ट्वीट को टैग करते हुए भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने ट्वीट किया, “सत्तारूढ़ मंत्रियों और विधायकों में एक और नाम सम्मिलित हो गया है, जो गहलोत सरकार में अधिकारियों से जूझ रहा है।