समाचार
हैदराबाद-बेंगलुरु, नागपुर-वाराणसी सहित चार और बुलेट ट्रेन गलियारे बनाने की योजना

भारतीय रेलवे ने वर्तमान में नियोजित आठ गलियारों के अतिरिक्त राष्ट्रीय रेल योजना में चार और हाई-स्पीड रेल गलियारे जोड़ने की योजना बनाई है।

प्रस्तावित आठ गलियारे में मुंबई- सूरत- वडोदरा- अहमदाबाद, दिल्ली- नोएडा- आगरा- कानपुर-लखनऊ- वाराणसी, दिल्ली- जयपुर-उदयपुर-अहमदाबाद, मुंबई- नासिक-नागपुर, मुंबई- पुणे-हैदराबाद, चेन्नई- बेंगलुरु- मैसूर, दिल्ली- चंडीगढ़-लुधियाना-जालंधर-अमृतसर, वाराणसी- पटना-हावड़ा सम्मिलित हैं।

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस को रेलवे के एक सूत्र ने बताया कि 2022 में राष्ट्रीय रेल योजना के तहत 618 किलोमीटर लंबी हैदराबाद-बेंगलुरु, 855 किलोमीटर लंबी नागपुर-वाराणसी, 850 किलोमीटर लंबी पटना-गुवाहाटी और 190 किलोमीटर लंबी अमृतसर-पठानकोट-जम्मू हाई स्पीड रेल गलियारा प्रस्तावित किए जाने की संभावना है।

वर्तमान में केवल मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल (एमएएचएसआर) परियोजना निर्माणाधीन है।

एमएएचएसआर परियोजना भारत में निष्पादन के तहत 508 किमी लंबी पहली हाई-स्पीड रेल (एचएसआर) नेटवर्क है। 508 किमी में से 352 किमी गुजरात (348 किमी), दादरा व नगर हवेली (चार किमी) और शेष 156 किमी महाराष्ट्र में स्थित है।

गुजरात और दादरा व नगर हवेली में निर्माण कार्य प्रगति पर है, जहाँ क्रमशः 98 प्रतिशत और 100 प्रतिशत भूमि का अधिग्रहण किया गया। महाराष्ट्र में अब तक 40 प्रतिशत भूमि अधिग्रहण हो चुका है।

साथ ही स्वीकृत दिल्ली-वाराणसी, दिल्ली-अहमदाबाद, मुंबई-नागपुर, दिल्ली-अमृतसर, मुंबई-हैदराबाद और चेन्नई-मैसूर कॉरिडोर पर विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार की जा रही है।