समाचार
पंजाब में गंभीर सुरक्षा उल्लंघन के बाद प्रधानमंत्री मोदी का फिरोजपुर दौरा टाला गया

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बुधवार को होने वाला पंजाब का फिरोजपुर दौरा स्थगित कर दिया गया।

पंजाब में सड़क मार्ग से यात्रा कर रहे प्रधानमंत्री मोदी कुछ प्रदर्शनकारियों के नाकेबंदी की वजह से 15 से 20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसे रहे। इस घटना को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सुरक्षा में बड़ी चूक बताया।

गृह मंत्रालय ने बयान में कहा कि प्रधानमंत्री की पंजाब यात्रा में बड़ी सुरक्षा चूक के बाद उनके काफिले ने लौटने का निर्णय लिया। मंत्रालय ने पंजाब सरकार से इसकी जिम्मेदारी निश्चित करने और कड़ी कार्रवाई करने को कहा है।

फिरोजपुर में रैली में जुटे लोगों से बात करते हुए मंडाविया ने कहा, “प्रधानमंत्री आप सभी से मिलना चाहते थे पर किन्हीं कारणों से वे आज हमारे साथ नहीं हैं। उन्होंने कहा है कि इन कार्यक्रमों (उद्घाटन) को स्थगित किया गया है, रद्द नहीं।”

एएनआई ने बठिंडा हवाई अड्डे पर अधिकारियों के हवाले से कहा कि हवाई अड्डे पर लौटने पर प्रधानमंत्री मोदी ने वहाँ के अधिकारियों से कहा, “अपने मुख्यमंत्री को धन्यवाद कहना कि मैं भटिंडा एयरपोर्ट तक जिंदा लौट आया।”

अधिकारियों को दिया गया प्रधानमंत्री मोदी का कथित बयान व्यंग्यात्मक था क्योंकि राज्य में उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करना पंजाब सरकार की जिम्मेदारी थी और वह ऐसा करने में विफल रही। पंजाब भाजपा प्रमुख अश्विनी शर्मा ने सुरक्षा चूक के लिए चरणजीत सिंह चन्नी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया।

प्रधानमंत्री का दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेसवे और पीजीआईएमईआर उपग्रह केंद्र सहित 42,750 करोड़ रुपये से अधिक की विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखने का कार्यक्रम था।

परियोजनाओं में अमृतसर-ऊना खंड को चार लेन का बनाना, मुकेरियां-तलवाड़ा ब्रॉड गेज रेलवे लाइन और कपूरथला और होशियारपुर के दो नए मेडिकल कॉलेज भी सम्मिलित हैं।