समाचार
बिक्रम सिंह मजीठिया अमृतसर पूर्वी से सिद्धू के विरुद्ध उतरे, लंबी से प्रकाश सिंह बादल

ड्रग्स मामले में फंसे शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के वरिष्ठ नेता बिक्रम सिंह मजीठिया अमृतसर पूर्वी से नवजोत सिंह सिद्धू के विरुद्ध मैदान में उतरेंगे। वहीं, पार्टी ने अपने 94 वर्ष के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को लंबी से चुनाव लड़ाने का निर्णय लिया है, जहाँ से वे 1997 के बाद से पाँच बार विधानसभा चुनाव जीते हैं।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, शिअद के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने संवाददाताओं को बताया कि बिक्रम सिंह मजीठिया को झूठे मामले में फँसाया गया। उन्होंने दावा किया कि बिक्रम सिंह नवजोत सिंह सिद्धू की जमानत भी जब्त करवा देंगे।

उधर, पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने ड्रग्स मामले में आरोपी बिक्रम सिंह मजीठिया की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी। अब उच्च न्यायालय के बाद सर्वोच्च न्यायालय में अपील करने का उन्हें समय दिया गया है।

20 दिसंबर को पंजाब के मोहाली में बिक्रम सिंह मजीठिया के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया था। इसके बाद मोहाली न्यायालय में उनकी जमानत याचिका दाखिल की गई थी, जिसे खारिज कर दिया गया था।

2017 के चुनावों में प्रकाश सिंह बादल ने पटियाला शहरी सीट को सुरक्षित करने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह को पराजित करके विधानसभा चुनाव जीता था। हालाँकि, उस समय शिअद का भाजपा से गठबंधन था। इस बार के चुनाव में शिअद ने बसपा से गठबंधन किया है। सीटों के बँटवारे की व्यवस्था के अनुसार, मायावती के नेतृत्व वाली बसपा पंजाब की 117 विधानसभा सीटों में से 20 पर चुनाव लड़ेगी। बाकी पर शिअद के उम्मीदवार उतरेंगे।