राजनीति
अगस्ता वेस्टलैंड मामले में जाँच से अब तक क्या पता चला है

आशुचित्र- जिन श्रीमति गांधी का उल्लेख मिशेल ने किया है, वे कौन हो सकती हैं?

यूनाइटेड प्रोग्रेसिव अलायंस (यूपीए) के कार्यकाल में हेलीकॉप्टर सौदा पाने के लिए राजनेताओं को रिश्वत देने के आरोपी अंग्रेज़ बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के प्रत्यर्पण के बाद अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला पिछले महीने से फिर सुर्खियों में आ गया है। किसानों की कर्ज़माफी जैसे अन्य मुद्दों द्वारा सुर्खियों से हटाए जाने के बाद पुन: यह रिश्वतखोरी घोटाला प्रमुख मुद्दा बन गया है।

29 दिसंबर को प्रवर्तन निदेशालय ने विशेष अदालत को बताया कि मिशेल ने पूछताछ के दौरान “श्रीमती गांधी” का नाम लिया है और “इटालियन महिला का पुत्र” जिसे “भारत का अगला प्रधानमंत्री” बताया है जैसे संदर्भ प्रयोग किए हैं जो कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी को घेरे में ला सकता है। वहीं एजेंसी ने अदालत को कहा कि मिशेल पूछताछ के दौरान दी गई कानूनी सहायता का भी गलत उपयोग कर रहा था। उनका कहना है कि वह वकीलों को चीट देकर सोनिया के संदर्भ में उत्तर देने के तरीके पूछ रहा था। अदालत ने मिशेल की रिमांड बढ़ा दी है तथा प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में वकीलों से मिलने पर रोक लगा दी है।

पिछले हफ्तों में प्रकाशित हुई कई रिपोर्टों में कांग्रेस के नेताओं को दोषी करार दिया गया था।

पहली, अगस्ता वेस्टलैंड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ग्युसेप ओर्सी को 29 जुलाई 2009 को लिखे गए एक पत्र में मिशेल ने दावा किया था कि इस सौदे में प्रधानमंत्री कार्यालय सहित किसी को भी परेशानी नहीं है केवल वित्त मंत्री को छोड़कर जिन्हें शायद उतनी तवज्जो नहीं दी गई है। एक दोस्त और पार्टी के नेता मंत्री से बात करेंगे। मिशेल ने आगे कहा था, “यदि कैबिनेट से मिलने के बाद भी वित्त मंत्री संतुष्ट नहीं हुए तो हमें कुछ महीनों की देरी सहनी पड़ सकती है।”

दूसरी, 28 अगस्त को ओर्सी को लिखे गए एक अन्य पत्र में मिशेल ने प्रधानमंत्री पर उनके पार्टी के लोगों द्वारा दबाव बनाने की बात भी कही। पत्र के अनुसार मिशेल के पास अमेरिकी राज्य सचिव हिलेरी क्लिंटन और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बीच हुई बातचीत तथा कैबिनेट और कैबिनेट सुरक्षा समिति की बातचीत सहित कई अन्य महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ थीं।

तीसरी, सीईओ ओर्सी के पास ऐसे बिंदुओं की जानकारी थी जिससे यूपीए सरकार द्वारा सितंबर 2006 में टेंडर निकालने के एक साल पहले ही वह अपनी कंपनी के लिए कॉन्ट्रैक्ट हेतु बोली लगा सकते थे। यह बिंदु खरीदे जाने वाले हेलीकॉप्टर की परिचालन ऊँचाई से संबंधित थे।

चौथी, एक अन्य बिचौलिए गिडो राल्फ हैश्के को लिखे गए एक अन्य पत्र में मिशेल ने “परिवार” के “सहयोग में कमी” को लेकर विरोध जताया है। स्विस अधिकारियों द्वारा साझा किए गए पत्र के अनुसार उसने हैश्के को कहा था कि जब तक सौदा पक्का न हो जाए तब तक “परिवार” को भुगतान करने की कोई आवश्यकता नहीं है। इटली के एक न्यायालय में अगस्ता वेस्टलैंड के मुद्दे पर सुनवाई के दौरान हैश्के ने “परिवार” का अर्थ त्यागी बंधु बताया था। लेकिन यह पत्र 2009 का बताया जा रहा है जो कि एसपी त्यागी के एयर चीफ के पद से सेवानिवृत्त होने के 2 साल बाद का है। त्यागी को जमानत पर रिहा कर दिया गया है।

मिशेल ने लिखा, “खेल खत्म नहीं हुआ है, अभी और चीज़ों को संभालना है”।

पाँचवीं, सीबीआई ने कहा कि विश्व की एक बड़ी ऑडिट कंपनी प्राइसवाटर हाउस कूपर्स ने अगुस्टा वेस्टलैंड से मिशेल की दो कंपनियों को पैसा भेजने की बातें पकड़ी हैं और इसे एक “व्यापक ऑडिट” बताया गया है। हालाँकि मिशेल की कंपनी ने इन अभिलेखों की जानकारी रखने के लिए एक अलग ऑडिटर को चुना था। यह पैसों के संदर्भ में लिया गया पहला कदम हो सकता है।

ये जानकारियाँ तथा पुछताछ के दौरान मिशेल द्वारा “श्रीमती गांधी” और “इटालियन महिला का पुत्र” जैसे शब्द कहने के बाद कांग्रेस की मुश्किलें और बढ़ गई हैं।

राफेल सौदे पर खराब संचार प्रक्रिया के कारण विपक्ष द्वारा घिरी सरकार इस मौके को कतई नहीं गवाना चाहती है। वहीं कांग्रेस द्वारा राफेल सौदे पर बिना सबूत आरोप लगान से विपरीत यहाँ सरकार के पास पर्याप्त सबूत हैं।

साथ ही यह दिखता है कि कांग्रेस की वाकपटुता उसके लिए ही हानिकारक हो गई है। मिशेल ने कहा है कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड को सौदे से हटाकर टाटा को कॉन्ट्रैक्ट दिया गया था। गौरतलब है कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड को राहुल गांधी ने ऐसी सामरिक संपत्ति बताया था जिसने देश को ऋणी बना दिया है।

राहुल गांधी जल्द ही खुद को समस्या से जूझता हुआ पाएँगे और इसके लिए वे खुद ही ज़िम्मेदार होंगे। राफेल सौदे और बोफोर्स पर सवाल उठाकर अपनी ताकत में इज़ाफ़ा की सोच रखने वाले राहुल ने खुद कांग्रेस पर एक बोफोर्स साध दिया है।

प्रखर स्वराज्य में वरिष्ठ उप-संपादक हैं। वे @prakhar4991 के माध्यम से ट्वीट करते हैं।