राजनीति
ताज महल पर हुई हिंदू महिला कार्यकर्ता द्वारा धूप-गंगाजल से पूजा? अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद ने कहा तेजोमहालय

सोशल मीडिया पर वाइरल हुए एक वीडियो के अनुसार अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद के सदस्यों ने शनिवार (17 नवंबर) को ताज महल पर पूजा की, टाइम्स ऑफ़ इंडिया  ने रिपोर्ट किया। तीन महिलाओं ने गंगाजल और धूप बत्ती से पूजा की।

अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद की जिला अध्यक्ष मीना देवी दिवाकर ने तर्क दिया कि अगर मुस्लिमों को हर दिन पाँच बार नमाज़ पढ़ने का अधिकार है तो उन्हें भी पूजा करने का अधिकार है। उन्होंने ताज महल को तेजोमहालय कहकर संबोधित किया।

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सी आई एस एफ) के सेनानायक ब्रज भूषण ने कहा कि उन्हें इस घटना की कोई जानकारी नहीं है क्योंकि ताज महल के भीतर पहरेदार नहीं रहते हैं। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ए एस आई) ने कहा है कि वे वीडियो की प्रमाणिकता की जाँच कर रहे हैं।

आगरा मंडल के ए एस आई संचालक अधिकारी वसंत सावरकर ने बताया कि उन्होंने स्वयं स्मारक के पास जाकर देखा था परंतु उन्हें कोी धूप या पूजा सामग्री नहीं मिली। उन्होंने कहा कि ए एस आई ने लोकल पुलिस को सूचना दे दी है और सी आई एस एफ से सीसीटीवी फुटेज माँगी गई है। स्वर्णकार ने जोड़ा कि यदि वीडियो सत्य सिद्ध हुआ तो कार्यकर्ता के विरुद्ध कदम उठाया जाएगा।

मस्जिद के इमाम सादिक़ अली ने कहा कि कार्यकर्ता ने गलती की है और इस प्रकारी की गतिविधि के लिए एक्टिविस्ट के विरुद्ध कदम उठाया जाना चाहिए। हालाँकि राष्ट्रीय बजरंग दल के गोविंद पाराशर ने कहा कि पूजा करने के लिए महिला पर कोई कार्यवाही नहीं होनी चाहिए।