राजनीति
“आतंकवाद के साथ कोई वार्ता नहीं”, सुषमा स्वराज ने ठुकराया पाक का प्रस्ताव

मंगलवार (27 नवंबर) को पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने एक प्रेस सम्मेलन में कहा कि दक्षिण एशिया क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) शिखर सम्मेलन के लिए वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित करेंगे। इसके जवाब में सुषमा स्वराज ने सम्मेलन में सम्मिलित होने के प्रस्ताव को नकार दिया है।

विदेश मंत्री ने पाकिस्तान के आमंत्रण पर प्रतिक्रिया में कहा कि करतारपुर गलियारे की बात भी पाकिस्तान ने कितने सालों बाद मानी है। एक सकारात्मक कदम से द्विपक्षीय वार्ता नहीं शुरू होगी, हिंदुस्तान  ने बताया।

“हम पाकिस्तान के सार्क सम्मेलन में आमंत्रण को सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं दे रहे हैं क्योंकि जैसा कि मैं पहले भी कह चुकी हूँ कि जब ताक पाकिस्तान अपनी आतंकवादी गतिविधियों पर रोक नहीं लगाता, तब तक किसी प्रकार की वार्ता नहीं होगी, इसलिए हम सार्क में प्रतिभाग नहीं करेंगे।”, सुषमा स्वराज ने कहा।

इससे पहले भी 2016 में इसलामाबाद में होने वाले सार्क सम्मेलन को रद्द करना पड़ा था, जब भारत ने उरी हमले के कारण और  बांग्लादेश, भूटान व अफगानिस्तान ने इस सम्मेलन में प्रतिभाग करने से इनकार कर दिया था।