राजनीति
2019 लोक सभा चुनावों के साथ चार से अधिक राज्यों में हो सकते हैं चुनाव

2019 लोक सभा चुनावों के साथ पाँच राज्यों के विधान सभा चुनाव होने की भी संभावना है। जहाँ आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्कीम और अरुणाचल प्रदेश के विधान सभा चुनाव प्रायः लोक सभा चुनावों के साथ होते आए हैं, वहीं दूसरी ओर विधान सभा भंग होने के कारण जम्मू-कश्मीर इस सूची का पाँचवा राज्य बन सकता है।

आंध्र प्रदेश की राज्य सरकार का कार्यकाल 18 जून को समाप्त हो रहा है, वहीं ओडिशा में 11 जून, अरुणाचल प्रदेश में 1 जून और सिक्किम की विधानसभा का कार्यकाल 27 मई 2019 को पूरा हो रहा है। इस प्रकार संभवतः मई में होने वाले लोक सभा चुनावों के साथ इन राज्यों के चुनाव का आयोजन उपयुक्त रहेगा।

दूसरी ओर जम्मू-कश्मीर में विधान सभा का छः वर्ष का कार्यकाल होता है जो 16 मार्च 2021 में पूरा होगा लेकिन विधान सभा भंग होने के बाद राष्ट्रपति शासन की अवधि मई तक समाप्त होगी जिससे वहाँ भी चुनाव की आवश्यकता रहेगी।

चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने जागरण  को बताया कि यदि हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव भी साथ करा दिए जाएँ तो 2019 में फिर और कोई चुनाव नहीं होंगे। इनका कार्यकाल नवंबर 2019 में समाप्त होगा और दोनों राज्यों में भाजपा की सरकार है, अगर पार्टी इन विधानसभाओं को तय समय से छह महीने पूर्व भंग करने का निर्णय लेती है तो वहाँ भी लोकसभा के साथ चुनाव कराए जा सकते हैं।