राजनीति
नई कम्युनिस्ट रणनीति- सबरीमाला में महिलाओं का प्रवेश करवाने के लिए अब हैलीकॉप्टरों का सहारा

41 दिवसीय मंडलम-मकरविलक्कू काल के लिए 17 नवंबर को सबरीमाला तीर्थस्थल के खुलने के कुछ दिन पहले केरला सरकार प्रदर्शन से बचने के लिए महिला श्रद्धालुओं को तिरुवनंतपुरम या कोची से सबरीमाला तक सैन्य हैलीकॉप्टरों द्वारा एयरलिफ्ट करके लाने की योजना बना रही है, द हिंदू  ने रिपोर्ट किया।

रिपोर्ट के अनुसार 10 से 50 आयुवर्ग के बीच की महिलाओं में से 560 ने सबरीमाला दर्शन की इच्छा जताई है। उच्च अधिकारियों ने बताया कि पंजीकृत महिलाओं में से अधिकांश नौकरी करने वाली या शिक्षित महिलाएँ व उनकी पुत्रियाँ हैं। लगभग 3.2 लाख पुरुषों ने भी दर्शन के लिए पंजीयन किया है।

हालाँकि 13 नवंबर को सर्वोच्च न्यायालय 28 सितंबर के निर्णय, जिसके कारण सदियों पुरानी परंपरा के अनुसार प्रजनन आयुवर्ग की महिलाओं के प्रवेश पर से रोक हटाई गई थी, की समीक्षा याचिका की सुनवाई करेगा।

इससे पहले अक्टूबर में भी पुलिस सुरक्षा में कुछ महिला कार्यकर्ताओं व पत्रकारों को मंदिर तक ले जाने का प्रयास किया गया था लेकिन भक्तों, विशेषकर महिलाओं के विरोध के कारण वे मंदिर में प्रवेश नहीं कर पाए। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि वे महिला दर्शनाभिलाषियों को मंदिर में ले जाने और लैंडिंग स्थान पर वापस सुरक्षित लाने का ख्याल रखेंगे।