राजनीति
सबरीमाला मंदिर में प्रवेश का प्रयास करने वाली रिहाना फ़ातिमा पर बी.एस.एन.एल. की कार्रवाई

बी.एस.एन.एल. ने सक्रिय कार्यकर्ता रिहाना फ़ातिमा, जिसने पुलिस सुरक्षा में सबरीमाला के पवित्र स्थान में घुसने का प्रयास किया था, का स्थानांतरण कर दिया है, द न्यू इंडियन एक्सप्रेस  ने रिपोर्ट किया।

रिपोर्ट के अनुसर उसका स्थान परिवर्तित कर कोची की रविपुरम शाखा में कर दिया है और बी.एस.एन.एल. ने उससे आंतरिक पूछताछ भी की। सूत्रों से पता चला है कि और अनुशासनिक कार्रवाई की जाएगी।

एक्टिविस्ट को कोची बोट जेट्टी शाखा में टेलीफ़ोन मेकैनिक के पद से हटाकर ऐसा काम दिया गया है जिसमें जनता से किसी प्रकार का संबंध स्थापित न करना हो।

सोशल मीडिया माध्यमों से लोगों की भावनाओं को ठेस पहुँचाने के लिए पुलिस ने रिहाना के खिलाफ एक केस रविवार (21 अक्टूबर) को दर्ज किया है। लाखों हिंदू भक्तों की भावनाओं को आहत करने क लिए केरला की जमात परिषद द्वारा उसका मुस्लिम समुदाय से भी बहिष्कार कर दिया गया है।

सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के विरोध में भक्तों के प्रदर्शन के बावजूद एक महिला पत्रकार के साथ फ़ातिमा ने अयप्पा तीर्थस्थल के भीतर घुसने का प्रयास किया था। हालाँकि वे मंदिर में प्रवेश नहीं कर पाए और केरला देवास्वोम मंत्री ने कार्यकर्ताओं को भीतर जाने से यह कहकर मना कर दिया कि मंदिर सक्रियता दिखाने का स्थान नहीं है।