राजनीति
सीतामढ़ी से अयोध्या तक राम-जानकी मार्ग पर भाजपा की घोषणा, चिराग ने उठाई थी माँग

बिहार चुनावों के लिए सीतामढ़ी में प्रचार करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घोषणा की कि अयोध्या और सीतामढ़ी के बीच में एक सड़क बनाई जाएगी। ध्यान देने वाली बात यह है कि एनडीए से अलग हुए चिराग पासवान ने भी कहा था कि अयोध्या को सीतामढ़ी को जोड़ने वाले एक गलियारे का निर्माण किया जाना चाहिए।

आज (3 नवंबर) को सीतामढ़ी में मतदान हो रहा है जिससे पहले जब योगी आदित्यनाथ वहाँ प्रचार के लिए पहुँचे थे तो सीतामढ़ी के लोगों को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण आरंभ पर शुभकामनाएँ दी थीं। साथ ही बताया था कि दोनों शहरों के बीच सड़क बन जाने से श्रद्धालु मात्र पाँच-छह घंटों में यात्रा कर सकेंगे।

सड़क परियोजना का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देते हुए योगी ने बताया कि इसका नाम राम-जानकी मार्ग होगा। सीतामढ़ी को माँ जानकी का मायका कहकर योगी ने कहा कि उनके जैसे भक्तों का सीतामढ़ी से भावनात्मक और आध्यात्मिक जुड़ाव है। राम मंदिर निर्माण कार्य के लिए उन्होंने लोगों से कहा, “अब तो संदेह नहीं होना चाहिए”।

इससे पहले लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख चिराग पासवान ने कहा था कि वे चाहते हैं कि सीतामढ़ी में देवी सीता के लिए अयोध्या के राम मंदिर से भी बड़ा मंदिर बनाया जाए। “देवी सीता के बिना भगवान राम अधूरे हैं। ऐसे में सीता मंदिर का निर्माण आवश्यक है। इससे बिहार के विकास में भी सहयोग मिलेगा।”, उन्होंने कहा।

चिराग पासवान ने माता सीता को नारी शक्ति का प्रतीक बताते हुए “सियाराम कॉरिडोर” के निर्माण की बात भी की थी। “इसमें मेरी आस्था तो है ही, इसके साथ ही बिहार इतना भव्य मंदिर बनने से राजस्व बढ़ेगा और बिहार का विकास भी होगा।”, पासवान ने आगे कहा। इस मांग को पूरा करने का वादा उन्होंने अपने चुनावी घोषणा पत्र में भी किया है।

रोचक बात यह है कि सीतामढ़ी में लोजपा का प्रत्याशी चुनाव नहीं लड़ रहा है फिर भी पासवान ने वहाँ आस्था प्रकट कर मंदिर निर्माण का वादा किया है। वहीं कॉरिडोर की माँग को एक तरह से मानते हुए भाजपा ने राम-जानकी मार्ग की घोषणा कर दी है। योगी ने यह भी कहा था कि वे विशेष रूप से लोगों को शुभकामनाएँ देने के लिए सीतामढ़ी आए हैं।

तीन मुख्य मोर्चों में से देखा जाए तो एनडीए की ओर से भाजपा के प्रत्याशी मिथिलेश कुमार, महागठबंधन की ओर से राजद के सुनील कुमार और तीसरे मोर्चे से बसपा के राकेश कुमार चुनावी मैदान में हैं। योगी ने अपनी सभा में लोगों से बिहार के विकास में सहयोग करने की अपील की थी।

निष्ठा अनुश्री स्वराज्य में वरिष्ठ उप-संपादक हैं। वे @nishthaanushree के माध्यम से ट्वीट करती हैं।