राजनीति
चर्च के विरोध का नतीजा? बिशॉप फ्रैंको मुलक्कल के विरुद्ध शिकायत दर्ज करने वाले पादरी मृत पाए गए

60 वर्षीय फ़ादर कुरियाकोज़ कट्टुहारा सोमवार सुबह अपने भोगपुर, जालंधर स्थित चर्च कक्ष में मृत पाए गए। फ़ादर कुरियाकोज़ जालंधर धर्मप्रदेश से संबंध रखते हैं और बिशॉप फ्रैंको मुलक्कल के विरुद्ध मुकदमा उन्होंने ही दर्ज किया था। मातृभूमि  ने रिपोर्ट किया है कि वे वृद्धावस्था संबंधी स्वास्थ्य परेशानियों से जूझ रहे थे।

उनकी मृत्यु के विषय में अलग-अलग मत सामने आ रहे हैं, कुछ पादरियों का कहना है कि यह साज़िश हो सकती है। अधिक जानकारी शव-परीक्षण की रिपोर्ट से ही प्राप्त हो सकती है। रिपोर्ट में कहा गया कि उनके मृत्यु की खबर एक झटका है क्योंकि हाल ही में बिशॉप फ्रैंको बेल पर जेल से बाहर निकले हैं और जालंधर में उनका धमाकेदार स्वागत किया गया था।

बलात्कार आरोपी बिशॉप के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने में फ़ादर कुरियाकोज़ ने चर्च के विरुद्ध जाकर साहस दिखाया था और जाँच के लिए शिकायत भी दर्ज की थी। मातृभुमि  से साक्षात्कार में उन्होंने दावा किया था कि बिशॉप और अन्य अधिकारियों द्वारा उन्हें शिकायत दर्ज करने के लिए लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है।

रिपोर्ट का कहना है कि उनके भाई जोस कट्टुहारा को भी मृत्यु के पीछे साज़िश का संदेह है। उन्होंने दावा किया है कि बिशॉप फ्रैंको के विरुद्ध आवाज़ उठाने और सच को सामने लानो का प्रयास करने के कारण फ़ादर कुरियाकोज़ की हत्या की गई है। फ़ादर कुरियाकोज़ ने पहले भी कहा था कि उनकी जान को खतरा है।