राजनीति
नरेंद्र मोदी की मराठी पर महाराष्ट्र दंग, जानिए प्रधानमंत्री को कैसे आती है मराठी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जानते हैं कि उनके मराठी बोलने से महाराष्ट्र में कई लोग चकित हो गए हैं क्योंकि वे पड़ोसी राज्य गुजरात से हैं जो महाराष्ट्र का एक प्रतिस्पर्धी है। 19 अक्टूबर को महाराष्ट्र में जनता को संबोधित करते हुए जब मोदी ने कुछ पंक्तियाँ मराठी में बोली तो लोग उन्हें आश्चर्य से देखने लगे। यह प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों से लार्ता के दौरान हुआ। कहा जाता है कि लक्ष्मण राव ईनामदार से उनके संबंधों के कारण उन्हें थोड़ी-बहुत मराठी समझ में और बोलने आती है, ए.एन.आई. ने रिपोर्ट किया।

कुछ अन्य सूत्रों ने मोदी के शुरुआती दिनों में संघ प्रचारक के रूप में काम करने का कारण बताया। उस समय, वे अहमदाबाद में कालिको मिल्स में आधारित एक मराठी परिवार भाटे के यहाँ प्रायः आया-जाया करते थे। एक प्रचारक के रूप में लोगों से दैनिक संवाद और भोजन के ऊपर चर्रचा के कारण वे थोड़ी बहुत मराठी सीख गए।

उस घर के बगल में एक परिवार रहता था जिसके सदस्य अलग-अलग संजातीय पृष्ठभूमि से आए थे और उस परिवार की एक नवयुवती छः भाषाएँ बोलना जानती थी। उसकी माँ बंगाली मूल से थी, पिता केरला से थे, लेकिन वे गुजरात में एक मराठी समाज के निकट रहते थे। उस लड़की से प्रभावित होकर मोदी ने मराठी सीखने का प्रयास किया था।

इसके बाद मोदी काम करने वडोदरा गए जहाँ एक बड़ा मराठी समुदाय है क्योंकि वहाँ बायकवाड़ वंश का शासन था।