राजनीति
“अब प्रदर्शन नहीं, उत्सव होगा”- देवेंद्र फडनवीस, महाराष्ट्र राज्य मंत्रीमंडल ने पारित किया मराठा आरक्षण बिल

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस की अध्यक्षता में महाराष्ट्र ने कल मराठा आरक्षण बिल पारित कर दिया, टाइम्स नाउ  ने रिपोर्ट किया। मराठा आरक्षण के इस बिल पर चर्चा संभवतः विधान सभा के शीत सत्र में होगी।

रिपोर्ट के अनुसार महाराष्ट्र, सामाजिक व आर्थिक पिछड़ा वर्ग (एस ई बी सी) नामक नया वर्ग बनाकर महाराष्ट्र पिछड़ा वर्ग आयोग द्वारा गुरुवार (15 नवंबर) को मुख्य सचिव को सौंपी गई रिपोर्ट के अनुसार मराठाओं को आरक्षण देगा।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि असाधारण स्थितियों के कारण नया वर्ग बनाया जा रहा है जिससे न अन्य पिछड़े वर्गों और न मराठाओं के अधिकारों का हनन हो।

पिछले सप्ताह ही देवेंद्र फडनवीस ने संकेत दे दिया था कि मराठाओं को सरकारी नौकरियों व शैक्षणिक संस्थानों में दिसंबर से आरत्रण मिलने लगेगा। महाराष्ट्र के अहमदनगर में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “सारी वैधानिक औपचारिकताएँ हम नवंबर में ही पूरी कर लेंगे और आरक्षण की घोषणा जल्द ही हो जाएगी। मेरा सभी से निवेदन है कि वे प्रदर्शन रोककर 1 दिसंबर से उत्सव की तैयारी करें।”

महाराष्ट्र राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग ने मराठाओं की आर्थिक व सामाजिक स्थिति को उल्लेखित करते हुए, उनके लिए 16 प्रतिशत आरक्षण सुझाया था।

मराठा समुदाय, जो राज्य की 33 प्रतिशत जनसंख्या का हिस्सा है, द्वारा 2017 से सरकारी नौकरियों व शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण की माँग को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा था।