राजनीति
“छत्रपति शिवाजी महाराज की जय” के नारों के साथ विधान सभा में मराठा आरक्षण पारित

गुरुवार (29 नवंबर) को महाराष्ट्र विधान सभा में मराठा आरक्षण बिल सर्वसम्मति से पास हो गया। अब रोजगार और शिक्षा के क्षेत्र में मराठाओं के लिए 16 प्रतिशत सीटों आरक्षित होंगी।

महाराष्ट्र विधानसभा में आज बिल पेश करते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा, “हमने मराठा समुदाय को आरक्षण देने के लिए प्रक्रिया पूरी कर ली है और हम आज विधेयक लेकर आए हैं।”

विधान सभा में पारित होने के बाद यह बिल विधान परिषद पहुँचा और वहाँ भी इस बिल को सबका समर्थन प्राप्त हुआ। सूत्रों ने सूचित किया है कि सरकार 5 दिसंबर तक मराठा आरक्षण को राज्य में लागू करने का प्रयास कर रही है। इसके लिए यह अगले पाँच दिनों में कानूनी औपचारिकता पूरी करेगी, नवभारत टाइम्स  ने बताया।

कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने आरक्षण का समर्थन तो किया लेकिन आरक्षण देने के पीछे इसे भाजपा की ध्रुवीकरण की मंशा बताई। इसके जवाब में फडनवीस ने कहा, “विपक्ष के मन में खोट है इसलिए वह ऐसा सोच रहे हैं। हमारे लिए आरक्षण राजनीतिक मुद्द नहीं है”

आरक्षण की घोषणा के साथ ही प्रसन्न मराठाओं ने ‘छत्रपति शिवाजी महाराज की जय’ के नारे लगाए। इससे पहले आरक्षण की माँग को लेकर मराठा एक साल से प्रदर्शन कर रहे थे।