दुनिया / राजनीति
अब केवल भूभाग नहीं, भारतीय शिक्षा व्यवस्था में भी चीनी घुसपैठ- इंटेलिजेंस ब्यूरो ने दी चेतावनी

चीन के बढ़ते भू-राजनीतिक विस्तार के साथ, इंटेलिजेंस ब्यूरो ने गृह मंत्रालय को भारतीय शिक्षा व्यवस्था में चीनी घुसपैठ की चेतावनी दी है, द ट्रिब्यून ने रिपोर्ट किया।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कथित तौर पर उच्च अधिकारियों को एक रणनीति बनाकर इस तंत्र से निपटने के लिए कहा है।

रिपोर्ट ने बताया कि चीन का कन्फ़्यूशियस संस्थान जो बौद्धिक लोगों का एक अपरोक्ष संस्थान है, हाल ही में नज़र में आया है।

कन्फ़्यूशियस संस्थान ने मुंबई विश्वविद्यालय में अपने केंद्र की स्थापना की है और इसी प्रकार के केंद्रों को वेल्लोर, कोयंबतूर और कोलकाता में भी स्थापित करने के प्रयासों को इंटेलिजेंस ब्यूरो ने संदिग्ध बताया है।

एम.एच.ए. ने बीजिंग के आक्रामक सूचना एकत्रीकरण प्रयोजन के लिए भी चेताया है क्योंकि यह भी उल्लेखित है कि चीन अपने देश की व्यापार इकाइयों का भारत में निर्णयन पदक्रम में पहुँच बनाने के लिए प्रयोग कर रहा है।

एम.एच.ए. सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की कि एजेंसियों को भारतीय विश्वविद्यालयों/ महाविद्यालयों और चीन के साथ समझौता ज्ञापन के तहत हो रहे विद्यार्थी विनियमन कार्यक्रम पर नज़र रखने के लिए कहा गया है।

यहाँ तक कि राज्य सरकारों को भी सलाह दी गई है कि वे चीनी गतिविधियों पर नज़र रखें और केंद्रीय एजेंसियों को डाटा एकत्रित करके उपचार उपायों की सूचना दें।