राजनीति
“कौनसा घोटाला?”, फ्रांसीसी राजदूत ने राफेल सौदे में भ्रष्टाचार की बात नकारी

बुधवार (28 नवंबर) को फ्रांसीसी राजदूत एलेग्ज़ैंडर जिगलर ने राफेल सौदे पर किसी प्रकार के भ्रष्टाचार की बात को नकार दिया है। मीडिया द्वारा सवाल किए जाने पर उन्होंने कहा, “कौनसा घोटाला? मेरा बस यही सुझाव है कि आप तथ्यों की ओर देखें, न कि ट्वीटों पर।”

जब उनसे सवाल किया गया कि क्या राफेल सौदे के कारण भारत और फ्रांस की संधि को किसी प्रकार का नुकसान पहुँचा है, तब उन्होंने कहा कि किसी प्रकार का घोटाला हुआ ही नहीं है, ज़ी न्यूज़  ने बताया।

बंगलुरु में फ्रेंच टेक समुदाय के संबंध में बात करते हुए उन्होंने कहा, “आप ट्रैक रिकोॉर्ड देखें… देखें कि दोनों देशों ने एरोनॉटिक्स के क्षेत्र में कैसी विश्वसनीयता स्थापित की है। मेक इंडिया के प्रति प्रतिबद्धता सराहनीय है, 50 प्रतिशत ऑफसेट नीति अभूतपूर्व है।”

जब उनसे हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के कर्मचारियों की नौकरी के नुकसान का प्रश्न पूछा गया तो उन्होंने कहा कि क्य एचएएल ने इस संबंध में कुछ कहा है?

जबकि दूसरी ओर राहुल गांधी का हमला जारी है। मिज़ोरम की चुनावी सभा में उन्होंने अनिल अंबानी की कंपनी को 30,000 करोड़ रुपए का लाभ पहुँचाने के आरोप को दोहराया।