राजनीति
भाजपा ने ननकाना साहिब हमले पर कांग्रेस को घेरा, कहा- “इसलिए ज़रूरी है सीएए”

पाकिस्तान में ननकाना साहिब में पत्थरबाजी और सिखों पर हमले को लेकर भाजपा और उसके सहयोगी अकाली दल ने कांग्रेस को नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) पर घेर लिया है। भाजपा ने कहा, “इस घटना से पता चलता है कि देश में सीएए की जरूरत है।”

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान उच्चायोग के सामने सिख समुदाय के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका प्रतिनिधित्व कर रहे अकाली दल नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा, “पड़ोसी देश ने जो किया वह निंदनीय है। सिख समुदाय किसी से डरने वाला नहीं। हम अपनी जान देना और किसी की जान लेना भी जानते हैं।” उन्होंने कांग्रेस से मामले को लेकर माफी मांगने को कहा। उन्होंने कहा, “कांग्रेस कहती है कि पाकिस्तान में इस तरह की घटना ही नहीं हुई। इस पर पार्टी को माफी मांगनी चाहिए।”

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने गुरुद्वारे पर पत्थरबाजी के दौरान युवक के भड़काऊ बयान को ट्वीट कर कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, “क्या कोई इसे राहुल गांधी और सोनिया गांधी के लिए इतालवी में अनुवाद कर सकता है, ताकि वे पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न के सबूत मांगना बंद कर दें।”

केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी ने ट्वीट किया, “श्री ननकाना साहिब गुरुद्वारा में हुई शर्मनाक घटनाओं से उन सभी की आंखें खुल जानी चाहिए, जो पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न से इनकार कर रहे हैं और CAA की जरूरत से मुँह मोड़ रहे हैं।”

उन्होंने आगे लिखा, “पाकिस्तान में उत्पीड़न का उन्हें और क्या सबूत चाहिए? इस घटनाक्रम से जाहिर है कि पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों को किस तरह मुश्किलों का सामना करता पड़ता है। भारतीय और एक सिख होने के नाते मैं उन सभी लोगों को धर्मनिरपेक्ष और संवेदनशील नहीं मानता, जो इन ज्यादतियों और उत्पीड़नों की सच्चाई के प्रति अपनी आंखें बंद करके बैठे हैं।”