राजनीति
गणतंत्र बचाओ यात्रा- बंगाल में भाजपा की ‘कूच’ पर कोलकाता उच्च न्यायालय की रोक

पश्चिम बंगाल के कूचबिहार में शुक्रवार को प्रस्तावित भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रथ यात्रा की अनुमति देने से, कोलकाता उच्च न्यायालय ने मना कर दिया। भाजपा तीन रथ यात्राएँ आयोजित करना चाहती थी, जो राज्य के सभी 42 लोकसभा क्षेत्रों तक पहुँचनी थी।

राज्य सरकार के वकील किशोर दत्ता ने कोर्ट में कहा कि कूचबिहार के पुलिस अधीक्षक ने भाजपा की रथ यात्रा की अनुमति देने से इंकार कर दिया था। वहीं राज्य सरकार ने यात्रा से सामाजिक तनाव की आशंका जताई थी।

हाईकोर्ट ने राज्य के पुलिस अधीक्षकों को भाजपा के प्रत्येक जिलाध्यक्षों से चर्चा कर अपनी रिपोर्ट 21 दिसम्बर तक जमा करने के आदेश भी दिए हैं। रथ यात्रा पर अगली सुनवाई 9 जनवरी को होनी तय की गई है।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार से यात्रा की अनुमति के आवेदन पर कोई उत्तर न मिलने पर भाजपा ने हाईकोर्ट का द्वार खटखटाया था।
भाजपा के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने अदालत की एकलपीठ के निर्णय को अदालत की खंडपीठ में चुनौती देने की बात कही।

इस पर प्रतिक्रिया स्वरूप पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, “ममता बनर्जी डरी हुई हैं कि अगर भाजपा इन रैलियों को आयोजित करेगी तो विशाल परिवर्तन आएगा इसलिए वे इन योत्राओं को रोकने का प्रयास कर रहे हैं।” साथ ही अमित शाह ने यह भी बताया कि वे इस मामले से निपटने कल पश्चिम बंगाल जाएँगे।