राजनीति
आप-कांग्रेस गठबंधन की बढ़ी संभावना, अजय माकन का दिल्ली अध्यक्ष पद से इस्तीफा

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के दिल्ली की राजनीति में पुन: आने का और आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन का मार्ग तब खुल गया जब दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए पद से इस्तीफा दे दिया, एएनआई  की रिपोर्ट में बताया गया।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने माकन का इस्तीफा स्वीकार किया तथा अब माकन अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के सदस्य बन सकते हैं। माकन आम आदमी पार्टी के संस्थापक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रमुख आलोचक हैं। उनके बाहर जाने से कांग्रेस-आप गठबंधन आसानी से बन सकता है।

आप और कांग्रेस गठबंधन को लेकर वार्ता कर रहे हैं। यह गठबंधन केवल दिल्ली की ही नहीं अपितु हरियाणा और पंजाब की लोकसभा सीटों पर भी होगा। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के प्रमुख आलोचकों में से एक अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस के खिलाफ बोलना छोड़ दिया है। उनका यह सामंजस्यपूर्ण कदम गठबंधन की प्रस्तावना के रूप में दिखता है।

आप सांसद तथा वकील और कार्यकर्ता एचएस फुल्का का आप से इस्तीफा भी गठबंधन के संकेत देता है। फुल्का 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों के पीड़ित लोगों के लिए न्याय की लड़ाई लड़ रहे हैं। इन दंगों में कांग्रेस के नेताओं का भी हाथ था। सूत्रों के अनुसार दोनों दलों के बीच हुए समझौते में आप 13 में से चार सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

माकन ने ट्विटर  पर लिखा, “वर्ष 2015 से चार सालों तक दिल्ली कांग्रेस का अध्यक्ष रहते हुए सभी कार्यकर्ताओं, मीडिया तथा राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से जो प्रेम तथा सम्मान मिला उसके लिए मैं आभारी हूँ। इतनी मुश्किल घड़ी में कार्य करना चुनौतीपूर्ण था, हृदय से आभार।”