राजनीति
सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री ख़ालिद अल-फ़लीह ने माना कि भारत में ‘अच्छे दिन’ आ गए हैं

नई दिल्ली में 14 से 16 अक्टूबर को पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की सहायता से इंडिया एनर्जी फोरम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तेल एवं गैस के मुद्दों पर भारत के लिए अवसरों, चुनौतियों और नीतियों का विचार करना था।

इस आयोजन में सोमवार (15 अक्टूबर) को सऊदी अरब के ऊर्जा एवं खनिज उद्योग मंत्री ख़ालिद अल-फ़लीह ने सभा को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा, “भारत की विकास दर के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने के लिए सऊदी अरब तैयार है। भारत एक विश्वगुरु की तरह उभरेगा और इस मुकाम में भारत की तेल की आवश्यकता को पूरा करने में सऊदी अरब अपना योगदान देगा।”, इकनॉमिक टाइम्स ने सूचित किया।

इतना ही नहीं, अल-फ़लीह ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए कहा, “प्रधान मंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत में व्यापार करना सुलभ और सहज हो गया है। प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में वृद्धि हुई है और महंगाई नियंत्रण में है। अन्य शब्दों में यह कहा जा सकता है कि प्रधान मंत्री ‘अच्छे दिन’ के अपने वादे को पूरा करने में सफल हुए हैं।”

इराक़ के बाद सऊदी अरब भारत में तेल का सबसे बड़ा पूर्तिकार है। ख़ालिद अल-फ़लीह ने प्रधान मंत्री मोदी और तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मिलकर भारत में निवेश जारी रखकर भारत की तेल माँग की आपूर्ति करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की।