राजनीति
दिग्विजय सिंह के ‘मन की बात’- वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने माना कि उनके प्रचार से पार्टी को मिलते हैं कम वोट

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को एक वीडियो में कहते सुना गया कि यदि वे प्रचार करेंगे तो पार्टी के वोटों में कमी आएगी। यह घटना कांग्रेस के लिए एक गलत समय पर आई है क्योंकि मध्य प्रदेश में चुनाव होने वाले हैं और सिंह राज्य के मुख्यमंत्री पद पर दो बार आसीन हुए हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी के लिए प्रचार करने के लिए मध्य प्रदेश गए हुए हैं। गौर करने वाली बात है कि सिंह पार्टी अध्यक्ष की रैलियों  में अनुपस्थित रहे हैं।

सिंह ने वीडियो में कहा, “मेरा एक ही काम है, न प्रचार करना, न भाषण देना। जब में भाषण देता हूँ तो कांग्रेस के वोट घट जाते हैं इसलिए मैं नहीं जाता।”

जब उनके बयान पर सवाल उठाए गए तो सिंह ने कहा कि वीडियो को सही तरीके से नहीं दिखाया गया है। “इसे सही तरह से नहीं दिखाया जा रहा है, विशेषकर कि पहले भाग को। अगर आप पहला भाग पूरा सुनेंगे तो आप इसे सही तरह से समझ पाएँगे।”, हिंदुस्तान टाइम्स से सिंह ने कहा।

भाजपा सरकार और मुख्यमंत्री ने इस बात पर प्रहार करने से कोई मौका नहीं छोड़ा कि कांग्रेस किस प्रकार से अपने वरिष्ठ नेताओं के साथ व्यवहार करती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “मैंने कभी नहीं सोचा था कि कांग्रेस अपने वरिष्ठ नेता से इस प्रकार का व्यवहार करेगी। कांग्रेसियों को कम-से-कम अपने नेताओं का तो सम्मान करना चाहिए।”

राज्य के कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने सिंह के वीडियो के विषय में प्रश्नों को यह कहकर टाल दिया कि उन्हें इस विषय में जानकारी नहीं है।

चुनावों के लिए 28 नवंबर की तारीख पक्की की गई है और मतगणना 11 दिसंबर को होगी।