घोषणाएं / दुनिया / राजनीति
अब आम आदमी बन सकेगा विश्वयात्री- उड़ान योजना का विस्तार अंतर्राष्ट्रीय मार्गों तक

सरकार ‘उड़े देश का आम नागरिक’ (उड़ान) योजना को अंतर्राष्ट्रीय मार्गों के लिए प्रस्तावित कर रही है, पी.टी.आई. ने रिपोर्ट किया। हवाई यातायात सेवा प्रदाताओं से चयनित अंतर्राष्ट्रीय मारेगों के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किए गए हैं।

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को उड़ान योजना के अंतर्राष्ट्रीय संस्करण को लागू करने का दायित्त्व सौंपा गया है। अंतर्राष्ट्रीय हवाई संयोजकता योजना के अंतर्गत एयरलाइन के चयन के लिए ई-प्रस्ताव आमंत्रित किए गए हैं।

केंद्र सरकार की महत्त्वाकांक्षी योजना उड़ान के अंतर्गत साढ़े सात लाख यात्रियों ने पिछले 17 महीनों में क्षेत्रीय संयोजकता योजना के अंतर्गत 15,700 विमानों में यात्रा की है।

साढ़े सात में से साढ़े चार लाख यात्रियों ने उड़ान योजना के अंतर्गत हवाई किरायों में सब्सिडी का लाभ उठाया। प्रथम और द्वितीय स्तर के शहरों के बीच हवाई यात्रा में सब्सिडी दी गई है जो आम आदमी के लिए किफ़ायती साबित हुई।

जेट एयरवेज़, इंडिगो, स्पाइस जेट, एयर डेक्कन, मेघा एयर और ज़ूम एयर जैसी आठ एयरलाइन इस योजना के घरेलू संस्करण में भागीदार हैं। इस योजना के अंतर्गत संचालित विमानों ने औसतन 68 प्रतिशत भार कारक के साथ उड़ान भरी, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा जारी किए गए आँकड़ों से पता चला।