समाचार
सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा के नेता की एसयूवी में लगाई गई आग, राजनीतिक हिंसा जारी

सिक्किम में राजनीतिक हिंसा लगातार जारी है। इसी क्रम में सत्तारूढ़ सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (एसकेएम) नेता की एसयूवी कार को जोरथांग में आग लगा दी गई।

पुलिस का कहना है कि एसकेएम के पार्टी कैलेंडर, पत्रिकाओं और डायरियों से भरा वाहन जोरेथांग स्कूल के पास खड़ा था, जिसमें मंगलवार तड़के आग लगा दी गई। एसयूवी सालघरी-ज़ूम निर्वाचन क्षेत्र के एसकेएम युवा संयोजक जॉन सुब्बा की थी।

पार्टी ने बुधवार को घटना के पीछे विपक्षी सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) के होने का आरोप लगाते हुए कहा कि यह सिक्किम के लोगों पर हमला है। पुलिस का कहना है कि मामले की शिकायत दर्ज कर ली गई और जाँच की जा रही है।

वहीं, देखा जाए तो पूर्व मुख्यमंत्री और एसडीएफ प्रमुख पीके चामलिंग के 3 माह बाद 30 दिसंबर को दिल्ली से लौटने के बाद राज्य की राजनीतिक स्थिति अस्थिर हुई है।

चामलिंग रविवार को जब सदाम में एक अंतिम संस्कार में सम्मिलित होने जा रहे थे, तब एसकेएम के समर्थकों ने उनके वाहनों को मेल्ली में रोक लिया और कथित तौर पर उन्हें गालियाँ दी थीं।

उस दिन के बाद जब चामलिंग का काफिला क्षेत्र में पहुँचा तो एसडीएफ और एसकेएम समर्थकों के मध्य तारे भीर में झड़प हो गई। दोनों पार्टियों के समर्थकों ने एक-दूसरे पर पथराव किया, जिसमें कम से कम चार वाहन क्षतिग्रस्त हो गए और कई लोग घायल हुए।

दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर उस क्षेत्र में हिंसा भड़काने का आरोप लगाया, जहाँ कई पर्यटक ठहरे थे। एसडीएफ ने पुलिस पर उसकी शिकायत पर मामला दर्ज नहीं करने का आरोप लगाया। इसके बाद उसने मंगलवार को पुलिस महानिदेशक से भेंट की और पूर्व मुख्यमंत्री की सुरक्षा की मांग की।

सत्तारूढ़ एसकेएम ने भी घटना को लेकर मेली पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है।