समाचार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए संसद भवन की छत पर अशोक स्तम्भ का किया अनावरण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार सुबह नए संसद भवन की छत पर बने राष्ट्रीय प्रतीक अशोक स्तम्भ का अनावरण किया।

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय प्रतीक अशोक स्तम्भ 9,500 किलोग्राम के कुल वजन के साथ कांस्य से बना है और इसकी ऊँचाई 6.5 मीटर है। इसे नए संसद भवन के सेंट्रल फोयर के शीर्ष पर रखा गया है। प्रतीक के समर्थन के लिए 6,500 किलोग्राम वजन की स्टील के मंच का निर्माण किया गया है।

प्रधानमंत्री ने उद्घाटन के दौरान संसद के काम में लगे श्रमिकों से बातचीत भी की।

नए संसद भवन की छत पर राष्ट्रीय प्रतीक की ढलाई की अवधारणा स्केच और प्रक्रिया मिट्टी मॉडलिंग-कंप्यूटर ग्राफिक से कांस्य कास्टिंग व पॉलिशिंग तक तैयारी के आठ अलग-अलग चरणों से गुजरी है।

इससे पहले, प्रधानमंत्री मोदी ने प्रगति मैदान में ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना की मुख्य सुरंग और पाँच अंडरपास का उद्घाटन किया था। यह परियोजना प्रगित मैदान पुनः विकास परियोजना का एक अभिन्न अंग बताया जा रहा। बताया जा रहा है कि इस इंटीग्रेटेड ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना की कुल लागत 920 करोड़ से अधिक आई है।

पीएमओ की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि 920 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाई गई यह इंटीग्रेटेड ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित है। इसका मुख्य उद्देश्य प्रगति मैदान में आयोजित होने वाली विश्व स्तरीय प्रदर्शनी और कन्वेंशन सेंटर तक लोगों को आसानी से पहुँचने में सहायता मिलेगी।

आगे कहा गया कि परियोजना के तहत बनाए गए अंडरपास में स्मार्ट फायर मैनेजमेंट मॉडर्न वेंटिलेशन और ऑटोमेटेड वाटर ड्रैनेज सिस्टम, डिजिटल रूप से संचालित सीसीटीवी कैमरे और सुरंग के अंदर सार्वजनिक अनाउंसमेंट सिस्टम जैसी सुविधा दी गई है।