समाचार
प्रधानमंत्री मोदी ने पुतिन से की यूक्रेन की स्थिति, ऊर्जा व खाद्य बाजारों की स्थिति पर चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (1 जुलाई) को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ वार्ता की और यूक्रेन की स्थिति और अंतर-राष्ट्रीय ऊर्जा व खाद्य बाज़ारों की स्थिति सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।

पीएमओ के एक बयान में कहा गया कि दोनों नेताओं ने फोन पर वार्ता के दौरान दिसंबर 2021 में राष्ट्रपति पुतिन की भारत यात्रा के दौरान लिए गए निर्णयों के कार्यान्वयन की समीक्षा की।

विशेष रूप से उन्होंने कृषि वस्तुओं, उर्वरकों और फार्मा उत्पादों में द्विपक्षीय व्यापार को और कैसे प्रोत्साहित किया जा सकता है, इस पर विचारों का आदान-प्रदान किया।

नेताओं ने अंतर-राष्ट्रीय ऊर्जा और खाद्य बाज़ारों की स्थिति सहित वैश्विक मुद्दों पर भी चर्चा की।

यूक्रेन में चल रही स्थिति के संदर्भ में प्रधानमंत्री मोदी ने वार्ता और कूटनीति के पक्ष में भारत के लंबे समय से चले आ रहे रुख को पुनः दोहराया।

टेलीफोन पर वार्ता को लेकर एक रूसी सरकार के बयान में कहा गया कि पुतिन ने प्रधानमंत्री मोदी को प्रमुख पहलुओं पर जानकारी दी, “रूस के चल रहे विशेष सैन्य अभियान और कीव शासन व उसके पश्चिमी संरक्षक के दृष्टिकोण की खतरनाक व उत्तेजक प्रकृति को रेखांकित किया गया, जिसमें वे संकट को बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं। राजनीतिक और कूटनीतिक रूप से शांति के प्रयासों को बाधित भी किया गया।”

रूसी सरकार के बयान के अनुसार, पुतिन ने यह भी कहा, “रूस एक विश्वसनीय उत्पादक और भारतीय भागीदारों के लिए अनाज फसलों, उर्वरक और ऊर्जा वाहकों का आपूर्तिकर्ता रहा है और बना रहा है।”

दोनों नेता वैश्विक और द्विपक्षीय मुद्दों पर नियमित परामर्श जारी रखने पर भी सहमत हुए।