समाचार
प्रगति मैदान इंटीग्रेटेड ट्रांजिट गलियारा परियोजना का प्रधानमंत्री मोदी ने किया उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (19 जून) को प्रगति मैदान इंटीग्रेटेड ट्रांजिट गलियारा परियोजना की छह लेन की मुख्य सुरंग और पाँच अंडरपास का उद्घाटन किया। एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना प्रगति मैदान पुनर्विकास परियोजना का अभिन्न अंग है।

यह परियोजना 920 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से प्रगति मैदान में विकसित की जा रही नई विश्व स्तरीय प्रदर्शनी और कन्वेंशन सेंटर को परेशानी मुक्त और सुगम पहुँच प्रदान करने के लिए बनाई गई है, ताकि मैदान में होने वाले कार्यक्रमों में प्रदर्शकों और आगंतुकों की भागीदारी को सुगम बनाया जा सके।

सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने परियोजना को केंद्र सरकार की ओर से दिल्ली के लोगों के लिए एक बड़ा उपहार बताया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “भारत सरकार देश की राजधानी में विश्व स्तरीय कार्यक्रमों के लिए अत्याधुनिक सुविधाओं, प्रदर्शनी हॉल के लिए लगातार काम कर रही है। द्वारका में अंतर-राष्ट्रीय सम्मेलन व एक्सपो सेंटर और प्रगति मैदान में पुनर्विकास परियोजना जैसे प्रतिष्ठान इसका भाग हैं।”

उन्होंने कहा, “हमारी सरकार ने दिल्ली-एनसीआर की समस्याओं के समाधान के लिए अभूतपूर्व कदम उठाए हैं। दिल्ली-एनसीआर में मेट्रो सेवा गत आठ वर्षों में दोगुने से अधिक 193 किमी से 400 किमी हो गई है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “पूर्वी और पश्चिमी पेरिफेरल एक्सप्रेसवे दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे, दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे, दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेसवे, दिल्ली-अमृतसर एक्सप्रेसवे, दिल्ली-चंडीगढ़ एक्सप्रेसवे और दिल्ली-जयपुर एक्सप्रेसवे दिल्ली को विश्व की सबसे अच्छी संयोजित राजधानियों में से एक बना रही है।”

इस दौरान उन्होंने स्वदेशी तकनीक से बने दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल सिस्टम के बारे में भी बात की।

प्रधानमंत्री ने कहा, “अमृत काल के दौरान देश के मेट्रो शहरों के दायरे का विस्तार करना और द्वितीय, तृतीय स्तर के शहरों में बेहतर योजना के साथ काम करना आवश्यक है। आने वाले 25 वर्षों में भारत के तीव्र विकास के लिए हमें ऐसे शहरों की आवश्यकता है जो हरित, स्वच्छ और मैत्रीपूर्ण बनाया जाए। यदि हम शहरीकरण को एक चुनौती की बजाय एक अवसर के रूप में लेते हैं तो यह देश के कई गुना विकास में योगदान देगा।”