समाचार
प्रधानमंत्री मोदी ने गिनाए पीएम गति शक्ति के लाभ, बताया- “रोजगार सृजन में उपयोगी”

केंद्रीय बजट 2022 के उपरांत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) के हितधारकों की बैठक को सोमवार को संबोधित किया। उन्होंने कहा, “सरकार जिस पैमाने पर इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास कर रही, उसमें पीएम गति शक्ति अहम भूमिका निभाएगी।”

टाइम्स नाऊ नवभारत की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, “हम अपनी आवश्यकता के अनुसार इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास करते हैं। फिर चाहे रेल हो या सड़क का। दोनों के मध्य मनमुटाव रहता है। ऐसा इसलिए क्योंकि विभिन्न विभागों के पास सभी विकास परियोजनाओं का विवरण नहीं होता है। पीएम गति शक्ति समन्वित तरीके से इंफ्रास्ट्रक्चर योजना, क्रियान्वयन और निगरानी का काम करेगी।”

उन्होंने कहा, “एक नई योजना, उत्तर-पूर्व के लिए पीएम की विकास पहल, पीएम-डिवाइन, पूर्वोत्तर की आवश्यकताओं के आधार पर पीएम गति शक्ति और सामाजिक विकास परियोजनाओं की भावना में इंफ्रास्ट्रक्चर को वित्त पोषित करेगी। पीएम गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान का दायरा अनुपालन बोझ को और कम करेगा।”

उन्होंने कहा, “सरकार ने राष्ट्रीय राजमार्ग, रेलवे, वायुमार्ग, जलमार्ग और नवीकरणीय ऊर्जा के विकास में निवेश बढ़ाया है। इंफ्रास्ट्रक्चर निवेश का सबसे बड़ा गुणक प्रभाव है। ये अन्य सभी क्षेत्रों की आर्थिक उत्पादकता को बढ़ाता है।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “सहकारी संघवाद को मजबूत करने हेतु सरकार ने राज्य सरकारों को 1 लाख करोड़ रुपए के आवंटन से सहायता करने का निर्णय किया। राज्य सरकारें इसका उपयोग मल्टीमॉडल इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने हेतु कर सकती हैं। पीएम गतिशक्ति हमारे निर्यात में भी सहायता करेगी और हमारे एमएसएमई को विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाएगी।

उन्होंने कहा, “पीएम गति शक्ति में टेक्नोलॉजी की अहम भूमिका होगी। हमें गुणवत्तापूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण के ऐसे तरीके निकालने होंगे, जो न केवल लागत प्रभावी हों बल्कि आपदा प्रतिरोधी भी हों। पीएम गति शक्ति मास्टरप्लान में डाटा प्लान की 400 से अधिक परतें हैं।”