समाचार
श्रीलंका में आर्थिक संकट के मध्य प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने अपना पद त्यागा

श्रीलंका में आर्थिक संकट के मध्य प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने अपने पद को त्याग दिया है। उनका त्याग-पत्र स्वास्थ्य मंत्री प्रोफेसर चन्ना जयासुमना ने राष्ट्रपति को सौंप दिया।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, लंबी जद्दोजहदके बाद महिंदा राजपक्षे ने अपना प्रधानमंत्री पद त्यागा है। उनके भाई व राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे, उनसे कई बार पद त्यागने को कह चुके थे।

वहीं, राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने भी देश के आर्थिक हालात को लेकर हुई बैठक में अपना पद छोड़ने को कहा था। उन्होंने कहा था कि देश में जारी राजनीतिक संकट के मध्य उन्हें अपने पद को त्याग देना चाहिए।

बता दें कि श्रीलंका में खराब आर्थिक हालात की वजह से भुखमरी की नौबत आ गई है। खाने-पीने की चीजों के दाम बहुत बढ़ चुके हैं। लोग सरकार के विरुद्ध सड़कों पर उतर आए हैं। मजदूर व व्यापारिक संगठनों ने सरकार के विरुद्ध हड़ताल कर दी है। गत सप्ताह विद्यार्थियों ने संसद में घुसने का भी प्रयास किया था।

श्रीलंका के नागरिक कई दिनों से राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री दोनों के पद छोड़ने की मांग कर रहे हैं। वहीं, श्रीलंका सरकार से भी सभी मंत्री अपने पद को छोड़ चुके हैं। सरकार ने विपक्षी नेताओं से अनुरोध किया था कि वे मंत्री बनकर सरकार चलाने में सहायता करें लेकिन उसने भी हाथ खड़े कर लिए।