समाचार
पीएम गति शक्ति- 2024-25 तक राष्ट्रीय राजमार्ग नेटवर्क 2 लाख रूट किमी तक बढ़ेगा

जिस तरह से बताया गया यदि वैसे ही केंद्र सरकार की योजनाएँ सकारा होती हैं तो देश में सड़क परिवहन क्षेत्र असाधारण कार्यों की ओर अग्रसर होता रहेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार (13 अक्टूबर) को मल्टी-मोडल संयोजकता के लिए पीएम गति शक्ति- राष्ट्रीय मास्टर प्लान का शुभारंभ किया।

योजना के तहत सरकार का लक्ष्य देश में राष्ट्रीय राजमार्ग नेटवर्क को 2024-25 तक लगभग दो लाख रूट किलोमीटर तक बढ़ाने का है।

बहुत बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर योजना में तटीय क्षेत्रों में 5,590 किमी लंबे चार और छह-लेन राजमार्गों का कार्य पूरा करना और उत्तर पूर्व क्षेत्र (एनईआर) के राजधानी शहरों को चार-लेन सड़कों या दो-लेन विन्यास के दो वैकल्पिक संरेखण के साथ जोड़ना सम्मिलित है।

मल्टीमॉडल संयोजकता के लिए राष्ट्रीय मास्टर प्लान- गति शक्ति एक डिजिटल मंच है, जो एकीकृत योजना व समन्वित इंफ्रास्ट्रक्चर संयोजकता परियोजनाओं के लिए रेलवे और रोडवेज सहित 16 मंत्रालयों को एक साथ लाएगा।

यह भारतमाला, सागरमाला, अंतरदेशीय जलमार्ग, शुष्क-भूमि बंदरगाहों, उड़ान आदि जैसे विभिन्न मंत्रालयों और राज्य सरकारों की इंफ्रास्ट्रक्चर योजनाओं को सम्मिलित करेगा।

टेक्सटाइल क्लस्टर्स, फार्मास्युटिकल क्लस्टर्स, डिफेंस कॉरिडोर, इलेक्ट्रॉनिक पार्क, इंडस्ट्रियल कॉरिडोर, फिशिंग क्लस्टर्स, एग्री ज़ोन जैसे आर्थिक क्षेत्रों की संयोजकता में सुधार लाने और भारतीय व्यवसायों को अधिक प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए कवर किया जाएगा।

पीएम गति शक्ति योजना व्यापक रूप से प्रौद्योगिकी का लाभ उठाएगी, जिसमें बिसाग-एन (भास्कराचार्य नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस एप्लिकेशन एंड जियोइनफॉरमैटिक्स) द्वारा विकसित इसरो कल्पना के साथ अंतरिक्ष संबंधी नियोजन उपकरण सम्मिलित हैं।