समाचार
सूरत व बिलिमोरा के मध्य अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना 2026 में शुरू होगी- रिपोर्ट

भूमि अधिग्रहण और कोविड-19 महामारी के कारण हुई देरी की वजह से मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल (एमएएचएसआर) परियोजना संभवतः 2023 की समय-सीमा से चूक जाएगी क्योंकि रेल मंत्रालय अब 2026 में सूरत से बिलिमोरा को कवर करने वाले पहले चरण को खोलने की योजना बना रहा है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, कथित तौर पर केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि सूरत और बिलिमोरा के बीच बुलेट ट्रेन 2026 में संचालित की जाएगी। सूरत-बिलिमोरा मार्ग के बीच की दूरी 50 किमी है।

दूसरी ओर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री सुगा योशीहिदे से भेंट की और क्वाड शिखर सम्मेलन के मौके पर अलग से एक बैठक भी की। इसमें एमएएचएसआर परियोजना के सुचारू और समय पर कार्यान्वयन की सुविधा हेतु अग्रिम प्रयासों के लिए अपनी प्रतिबद्धता को पुनः दोहराया था।

एमएएचएसआर परियोजना भारत में पहला हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर है। इसे जापान सरकार की तकनीकी और वित्तीय सहायता से क्रियान्वित किया जा रहा है।

महाराष्ट्र, गुजरात और केंद्र शासित प्रदेश दादरा व नगर हवेली राज्यों में कुल 12 स्टेशनों के साथ एमएएचएसआर कॉरिडोर की लंबाई 508.17 किलोमीटर होगी।

जहाँ एक सीमित ठहराव (सूरत और वडोदरा में) सेवा इस दूरी को 1 घंटे 58 मिनट में तय करेगी। वहीं, सभी तरह की ठहराव सेवा को इस दूरी को तय करने में 2 घंटे 57 मिनट का समय लगेगा।