समाचार
“पाकिस्तान युद्ध में है और तालिबान के पक्ष में”- अफगानिस्तान के वीपी अमरुल्ला सालेह

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति (वीपी) अमरुल्ला सालेह ने शुक्रवार (13 अगस्त) को तालिबान को समर्थन देने के लिए पाकिस्तान को फटकार लगाई क्योंकि आतंकवादी संगठन युद्धग्रस्त देश में नए क्षेत्रों पर कब्जा करना जारी रख रहे हैं।

सीआईए के पूर्व निदेशक और अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना के पूर्व कमांडर जनरल डेविड पेट्रायस ने तुर्की के स्वामित्व वाले चैनल टीआरटी वर्ल्ड को दिए एक साक्षात्कार में अफगानिस्तान की स्थिति के लिए पाकिस्तान को दोषी ठहराया था।

इसी का हवाला देते हुए अमरुल्ला ने एक ट्वीट में कहा, “सच्चाई को लंबे समय तक छिपाया या छद्म रूप में रखा नहीं जा सकता है। यह सामने आती है और झूठे और धोखेबाज पर पलटवार करती है।”

साक्षात्कार में जनरल पेट्रायस ने कहा था, “अफगानिस्तान में सैन्य स्थिति को हल नहीं किया जा सका क्योंकि तालिबान, हक्कानी… जैसे सभी समूहों का मुख्यालय पाकिस्तान में है, जो अफगानिस्तान के लिए परेशानियाँ खड़ी करते हैं। वहीं, पाकिस्तान की ओर से भी उन मुख्यालयों को खत्म करने में भी कोई रुचि नहीं दिखाई जाती है।”

सालेह ने कहा, “पाकिस्तान अब और नहीं छिप सकता। वह युद्ध में है और आतंकवादी तालिबान के पक्ष में हैं।” सालेह का यह बयान तब आया, जब तालिबान ने अफगानिस्तान के कंधार, हेरात और हेलमंद प्रांत की राजधानी लश्कर गाह पर कब्जा कर लिया है। तालिबान ने पहले ही एक हफ्ते में देश की 34 प्रांतीय राजधानियों में से कम से कम 14 पर अपना नियंत्रण स्थापित कर लिया है।