समाचार
पाकिस्तान ने चीनियों पर हमले का दोष भारत व अफगानिस्तान पर मढ़ा, चीन हुआ संतुष्ट

खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के दसू में चीनी इंजीनियरों से भरी बस में हुए विस्फोट के मामले का सारा दोष पाकिस्तान ने भारत और अफगानिस्तान के ऊपर मढ़ दिया है। इस पर शुक्रवार (13 अगस्त) को चीन ने उसकी पीठ थपथपाते हुए कहा कि वह जाँच के संबंध में अपने मित्र देश के प्रयासों से बहुत खुश है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा, “हम इस मामले पर विशेष ध्यान दे रहे हैं। हम पाकिस्तान के सक्रिय प्रयासों की सराहना करता है। उनकी जाँच में कम समय में महत्वपूर्ण प्रगति देखी गई है। अभी आगे की जाँच जारी है।”

पाकिस्तान के आरोपों पर चीन ने कहा कि आतंकवाद पूरी मानव जाति का दुश्मन है और भू-राजनीतिक लाभ के लिए आतंकवाद का उपयोग करने वाली किसी भी ताकत का चीन दृढ़ता से विरोध करता है। साथ ही वह इस क्षेत्र के देशों से सभी आतंकवादी संगठनों के खात्मे में सहयोग करने का आह्वान करता है, ताकि सभी की सुरक्षा और विकास हितों को बरकरार रखा जा सके।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि हमले के लिए अफगानिस्तान के भू-भाग का उपयोग किया गया और इसमें उपयोग हुआ वाहन अफगानिस्तान से तस्करी कर लाया गया था। हमले में भारतीय एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और अफगानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय (एनडीएस) की मिलीभगत थी।

बता दें कि 14 जुलाई को चीनी इंजीनियरों और श्रमिकों को ले जा रही बस में विस्फोट हो गया था। इसमें नौ चीनी नागरिक, दो सेना के जवान सहित 13 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं, करीब 40 लोग घायल हुए थे।