समाचार
जम्मू के मंदिरों पर पाक समर्थित आतंकी संगठनों की हमले की योजना, चेतावनी जारी

भारत की खुफिया एजेंसियों ने चेतावनी जारी की है कि पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठनों जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा ने भारत में सांप्रदायिक तनाव के प्रसार के लिए जम्मू के मंदिरों पर हमले की योजना बनाई है। इसके बाद गंभीर चेतावनी जारी कर शहर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

हिंदुस्तान लाइव ने इंडिया टुडे के हवाले से बताया कि आतंकी संगठन 5 और 15 अगस्त को जम्मू के मंदिरों पर हमला कर सकते हैं। दरअसल, 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 के समाप्त होने की दूसरी वर्षगाँठ है। वैसे भी जम्मू को मंदिरों का शहर कहा जाता है, जहाँ रघुनाथ, बावे लाली माता सहित सैकड़ों प्राचीन मंदिर हैं।

सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि ड्रोन द्वारा आईईडी गिराए जाने की हालिया घटनाओं ने संकेत दिया कि आतंकी संगठन जम्मू में मंदिरों के आस-पास भीड़ वाले क्षेत्रों में बड़ा विस्फोट करने की योजना बना रहे हैं।

रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “बीते दिनों आतंकी हमलों के करीब तीन पिछले प्रयासों को असफल कर दिया गया। ड्रोन का उपयोग आईईडी पहुँचाने के लिए हो रहा है, ताकि आतंकी उन्हें लगा सकें और हमले कर सकें।”

बता दें कि 23 जुलाई को कनाचक क्षेत्र में एक ड्रोन ढेर किया गया था और पाँच किलो विस्फोटक सामग्री बरामद की गई थी। 27 जून को ड्रोन के माध्यम से जम्मू वायुसेना स्टेशन के तकनीकी क्षेत्र में विस्फोट किया गया था।