समाचार
अफगानिस्तानी उपराष्ट्रपति ने पाकिस्तानी सेना को तालिबान का रणनीतिक गुरु बताया

अफगानिस्तानी उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने मंगलवार (27 जुलाई) को कहा कि पाकिस्तानी सेना आतंकवादी संगठन तालिबान की निर्माता, रणनीतिक गुरु और निम्न रूपरेखा वाली आपूर्तिकर्ता है।

अफगानिस्तान सरकार एवं उनके अधिकारियों ने लंबे समय से पाकिस्तानी सेना व उसकी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) पर तालिबानी आतंकवादियों की सहायता और समर्थन करने का आरोप लगाया है।

अमरुल्ला सालेह ने मंगलवार (27 जुलाई) को एक ट्वीट में पाकिस्तानी सेना द्वारा अफगान राष्ट्रीय सेना (एएनए) के 46 सैनिकों को वापस लौटाए जाने के संदर्भ में स्पष्ट रूप से कहा कि इस तरह के प्रचार कारनामों से अफगानिस्तान की नज़र में न तो ज़मीनी वास्तविकता में परिवर्तन होगा और न ही पाकिस्तान की छवि में सुधार होगा।

पाकिस्तानी सेना ने मंगलवार को कहा कि उसने रविवार को देश में 46 एएनए के सैनिकों को शरण और सुरक्षा देने के बाद वापस कर दिया। पाकिस्तान सेना के एक बयान के अनुसार, अफगान सुरक्षाकर्मी अफगानिस्तान में पैदा हुई सुरक्षा स्थिति के कारण पाक-अफगान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अपनी सैन्य चौकियों को संभाले रखने में असमर्थ थे।”

अफगानिस्तानी उपराष्ट्रपति ने कहा, “प्रचार के तरीकों से वास्तविकता में परिवर्तन नहीं होगा और मेरे देश में पाक की छवि नहीं सुधरेगी। वास्तविकता यह है कि पाक सेना मेरे देश में चल रहे पूर्ण पैमाने पर आतंकवादी आक्रमण की निर्माता, रणनीतिक गुरु और निम्न रूपरेखा वाली आपूर्तिकर्ता है।