समाचार
उत्तराखंड के बाराहोती में 100 से अधिक चीनी सैनिकों ने की घुसपैठ, पुल किया क्षतिग्रस्त

30 अगस्त को उत्तराखंड के बाराहोती में 100 से अधिक चीनी सैनिकों ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की  और पीछे हटने से पहले एक पुल सहित इंफ्रास्ट्रक्चर को क्षतिग्रस्त कर दिया था।

दि इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, चीनी सैनिक 55 घोड़ों के साथ तुनजुन-ला दर्रे से होते हुए भारतीय क्षेत्र में कम से कम 5 किलोमीटर तक अंदर आ गए थे।

हालाँकि, भारतीय सेना के वहाँ न होने से चीनी सैनिकों द्वारा किए गए उल्लंघन के कारण गतिरोध नहीं हुआ था। भारतीय जवानों के आने से पहले ही वे क्षेत्र छोड़ कर चले गए थे।

दि इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट सुरक्षा प्रतिष्ठान में सूत्रों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर है, जो कहती है कि चीनी सैनिक भारतीय क्षेत्र बाराहोती में लगभग तीन घंटे तक रहे थे।

स्थानीय नागरिकों ने चीनी सैनिकों द्वारा किए गए सीमा उल्लंघन की सूचना दी थी। इसके उपरांत भारतीय सेना और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस की टीमों को असलियत का पता लगाने के लिए भेजा गया था।

बाराहोती चोटी नंदा देवी नेशनल पार्क के उत्तर में उत्तराखंड के चमोली जिले में चीन की सीमा पर स्थित है। बाराहोती के मैदानी क्षेत्रों में लद्दाख जैसी स्थिति से बचने के लिए भारतीय सेना ने भी चीनी गतिविधियों को देखते हुए सेंट्रल सेक्टर में तैनाती बढ़ा दी थी।