समाचार
इंडियन ऑयल रिफाइनरियों को अक्षय ऊर्जा की आपूर्ति करेगा एनटीपीसी, किया समझौता

इंडियन ऑयल रिफाइनरियों के लिए आगामी परियोजनाओं की बिजली आवश्यकताओं को पूरा करने हेतु एनटीपीसी और इंडियन ऑयल ने एक संयुक्त उद्यम (जेवी) कंपनी बनाने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए।

एनटीपीसी की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी एनटीपीसी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एनजीईएल) इंडियन ऑयल को अक्षय ऊर्जा की आपूर्ति करने के लिए संयुक्त उद्यम कंपनी बनाएगी। एनजीईएल एनटीपीसी के कुल अक्षय ऊर्जा कारोबार को मजबूत करने वाली एक प्रमुख कंपनी है।

इंडियन ऑयल ने इस संयुक्त उद्यम के माध्यम से दिसंबर 2024 तक चौबीसों घंटे अक्षय ऊर्जा का उपयोग करके 650 मेगावॉट क्षमता के साथ अपनी रिफाइनरियों की अतिरिक्त बिजली आवश्यकता को पूरा करने की योजना बनाई है।

एनटीपीसी ने कहा, “देश में अक्षय ऊर्जा स्रोतों के उपयोग और क्षमता को बढ़ाने के उद्देश्य से एकीकृत, देश द्वारा संचालित निगमों ने इंडियन ऑयल रिफाइनरियों के लिए अक्षय ऊर्जा-आधारित बिजली संयंत्रों की स्थापना की।”

एनटीपीसी के सीएमडी गुरदीप सिंह ने कहा, “एक समान उद्देश्य के लिए दो ऊर्जा कंपनियों के बीच संयुक्त उद्यम टीम वर्क और सहयोग का एक उत्कृष्ट उदाहरण है।”

इंडियन ऑयल के अध्यक्ष श्रीकांत माधव वैद्य ने कहा, “यह वास्तव में शक्तिशाली बयान है क्योंकि देश के दो जीवाश्म ईंधन दिग्गज- इंडियन ऑयल और एनटीपीसी हरित ऊर्जा की दिशा में अपना रास्ता बनाने के लिए हाथ मिला रहे हैं।”