समाचार
बांग्लादेश में अब इस्कॉन मंदिर पर हमला कर तोड़फोड़, भीड़ ने एक सदस्य को मार डाला

बांग्लादेश के नोआखली जिले में शुक्रवार (15 अक्टूबर) को भीड़ ने कथित तौर पर इस्कॉन मंदिर पर हमला कर दिया। इस्कॉन समुदाय ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि हमले में एक सदस्य की मौत हो गई।

टीवी-9 भारतवर्ष की रिपोर्ट के अनुसार, इस्कॉन समुदाय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, “बहुत ही दुख के साथ हम इस्कॉन सदस्य पार्थ दास की मृत्यु की सूचना साझा कर रहे हैं। उनकी कल 200 लोगों की भीड़ ने बेरहमी से हत्या कर दी। उनका शव मंदिर के बगल में एक तालाब में मिला। हम बांग्लादेश सरकार से मांग करते हैं कि वह इस संबंध में तत्काल कार्रवाई करे।”

मंदिर ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “इस्कॉन मंदिर और भक्तों पर आज नोआखली में भीड़ ने हमला किया। मंदिर को बहुत नुकसान हुआ और एक भक्त की हालत गंभीर बनी है। हम बांग्लादेश सरकार से सभी हिंदुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने और अपराधियों को दंड देने का अनुरोध करते हैं।”

इस्कॉन मंदिर पर हमला तब हुआ, जब प्रधानमंत्री शेख हसीना ने सांप्रदायिक हिंसा की घटनाओं को लेकर कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया। उन्होंने हिंदू मंदिरों पर हमले की घटनाओं के बाद देश में दुर्गा पूजा समारोह को सुविधाजनक बनाने के लिए सुरक्षा कड़ी कर दी। देश भर में अर्धसैनिक बलों और पुलिस की टुकड़ियों को तैनात किया गया है।

बता दें कि कोमिला में दुर्गा पूजा पंडाल में मूर्ति के चरणों में कुरान की प्रति रखने के कुछ घंटों बाद बुधवार को हमले शुरू हुए थे। मुस्लिम भीड़ ने पंडाल पर हमला किया, जिससे देश के कई हिस्सों में पंडालों और मंदिरों पर हमलों की शृंखला शुरू हो गई। इसके बाद देश के 22 जिलों में अर्धसैनिक बल तैनात कर दिए गए।