समाचार
विजय माल्या मामले में और प्रतीक्षा नहीं, 18 जनवरी को अंतिम सुनवाई- सर्वोच्च न्यायालय

विजय माल्या के विरुद्ध अवमानना मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार (30 नवंबर) को कहा कि भगोड़े कारोबारी को जिस मामले में दोषी ठहराया गया है, उस पर 18 जनवरी 2022 को अंतिम सुनवाई की जाएगी।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि इस मामले में हम पर्याप्त प्रतीक्षा कर चुके हैं। अब इससे अधिक और प्रतीक्षा नहीं की जा सकती। माल्या के विरुद्ध अवमानना मामले का किसी ना किसी स्तर पर निपटारा करना ही होगा। अब इस प्रक्रिया को समाप्त हो जाना चाहिए।

सर्वोच्च न्यायालय ने मामले में वरिष्ठ अधिवक्ता जयदीप गुप्ता से न्याय मित्र के रूप में सहायता करने का अनुरोध किया था। साथ ही न्यायालय ने कहा था कि विजय माल्या अभिवेदन को आगे बढ़ाने के लिए स्वतंत्र हैं। यदि वह उपस्थित नहीं है तो उसकी ओर से वकील बहस कर सकता है।

न्यायालय ने कहा कि हम हमेशा के लिए विजय माल्या की प्रतीक्षा नहीं कर सकते हैं। न्यायालय ने विजय माल्या को पेश होने का निर्देश दिया था लेकिन वह हाजिर नहीं हुआ। इससे पूर्व, न्यायालय ने इस मामले में 2017 के निर्णय पर माल्या की पुनर्विचार याचिका भी खारिज कर दी थी।