समाचार
जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा समाप्त होने के बाद कोई हिंदू विस्थापित नहीं हुआ

जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने के दो वर्ष बाद केंद्र सरकार ने संसद में कुछ जानकारियाँ प्रस्तुत की हैं। सरकार ने बताया कि 5 अगस्त 2019 के उपरांत से अब तक घाटी में 366 आतंकवादियों को मार गिराया गया है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्यसभा में बताया कि अनुच्छेद 370 की वापसी के बाद से अब तक जम्मू-कश्मीर में 96 आम नागरिकों की जान गई और 81 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए। अब तक घाटी से एक भी कश्मीरी पंडित या हिंदू विस्थापित नहीं हुआ है।

केंद्र सरकार ने यह भी जानकारी दी कि कश्मीर में रहने वाले कुछ कश्मीरी पंडित परिवार, जिनमें अधिकतर महिलाएँ व बच्चे  सम्मिलित थे, हाल ही में जम्मू कश्मीर में रहने आए हैं। हालाँकि, ये सभी सरकारी कर्मचारी थे और इनमें से अधिकतर सर्दी की छुट्टियों की वजह से जम्मू गए हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को समाप्त कर दिया था। साथ ही जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेश में विभाजित कर दिया था, ताकि उनका संपूर्ण विकास हो सके।