समाचार
नितिन गडकरी ने ट्रांसपोर्टरों को ओवरलोडिंग के लिए भारी जुर्माने की चेतावनी दी

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने ट्रांसपोर्टरों को चेतावनी दी कि उन्हें ओवरलोडिंग के लिए भारी जुर्माना देना होगा अन्यथा वे भारतीय सड़कों पर खतरों की गंभीरता को नहीं समझेंगे।

उन्होंने कहा कि उन्हें अनुमेय सीमा से अधिक भार लोड करने के लिए ज़िम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। वहीं उन्होंने यह घोषणा करते हुए कि सरकार ने तेज़ी से माल की आवाजाही के लिए सभी जिलों को कम से कम चार-लेन राजमार्ग संयोजकता प्रदान करने का निर्णय लिया है।

हाइड्रोलिक ट्रेलर ओनर्स एसोसिएशन (एचटीओए) के एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए नितिन गडकरी ने बताया कि एसोसिएशन के पदाधिकारियों में से एक उन्हें सुझाव दे रहे थे कि प्राधिकरण को माल पाने वाले को भी ओवरलोडिंग के लिए दंडित करना चाहिए।

मंत्री ने स्वीकार किया कि ट्रांसपोर्टरों को अभी भी राज्य सरकार की एजेंसियों और आरटीओ से अनुमति लेने की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि परिवहन क्षेत्र में भ्रष्टाचार अब भी एक मुद्दा है लेकिन इसे राज्य सरकार के सहयोग से दूर किया जा सकता है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “हमें पूरे देश में एक डिजिटाइज्ड सिस्टम की आवश्यकता है।”

गडकरी ने कहा, “एक ऐसा संगठन होना चाहिए, विशेष रूप से भारतीय निर्माण उपकरण निर्माण उद्योग के लिए, जो अनुसंधान कर सके और भविष्य के लिए उपयुक्त तकनीक दे सके क्योंकि भविष्य की योजना बनाना बहुत महत्वपूर्ण है, जैसे ऑटोमोबाइल क्षेत्र में एआरएआई है।

उन्होंने कहा कि आर्थिक व्यवहार्यता के बिना प्रौद्योगिकी उपयोगी नहीं है। उन्होंने निर्माताओं को ईंधन दक्षता पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा।