समाचार
“टेस्ला भारत में कारखाना लगाए, हर तरह की सहायता देगी केंद्र सरकार”- नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि भारतीय बाज़ार में प्रवेश करने के लिए टेस्ला और केंद्र सरकार के बीच वार्ता चल रही है। उन्हें उत्पादन शुरू करने और यहाँ से कारें अन्य देशों में निर्यात करने के लिए जो सहायता चाहिए होगी, उसके लिए सरकार तैयार है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, एक कार्यक्रम में नितिन गडकरी ने कहा, “टेस्ला से कहा गया है कि वह भारत में अपना कारखाना लगाएँ और यहीं से कारें अन्य देशों को निर्यात करें।”

टेस्ला के मूल्य को लेकर उन्होंने कहा, “कंपनी की कारों का मूल्य किफायती होगा। वह भारत में ही कारें बनाकर बेचेंगे। यहाँ के वेंडर्स तैयार हैं। कारों का मूल्य 35 लाख रुपये के आस-पास होगा। आने वाले दिनों में भारतीय कंपनियाँ भी टेस्ला के बराबर पहुँच जाएँगी। वे इसको लेकर शोध कर रही हैं।”

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार का लक्ष्य आने वाले वर्षों में पेट्रोल-डीजल का आयात बंद करके इसकी निर्भरता को समाप्त करना है। पेट्रोल-डीजल पर कुछ देशों की मनमानी नहीं चलेगी। हम ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोतों पर निर्भरता बढ़ा रहे हैं। ग्रीन हाइड्रोजन भविष्य का ईंधन है। आगामी वर्षों में हम इसका निर्यात करने की स्थिति में होंगे।

बता दें कि टेस्ला ने अमेरिका से बाहर पहला कारखाना चीन में स्थापित किया था, जहाँ से कंपनी कारों का निर्यात कर रही है। कंपनी चाह रही थी कि चीन में बनाई गई कारें भारतीय बाज़ारों में उतारी जाएँ लेकिन इसके लिए सरकार तैयार नहीं है।