समाचार
कार निर्माताओं को 100% बायो इथेनॉल वाले इंजन बनाने के निर्देश देंगे- नितिन गडकरी

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा, “मैं आगामी 2 से 3 दिनों में एक दस्तावेज़ पर हस्ताक्षर करने जा रहा हूँ, जिसमें कार निर्माताओं को 100 प्रतिशत बायो-इथेनॉल से चलने वाले इंजन बनाने के लिए कहा जाएगा।”

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, नितिन गडकरी ने कहा, “इथेनॉल की बढ़ी हुई आपूर्ति के साथ फ्लेक्स-ईंधन इंजन वाले वाहनों को शीघ्र प्रस्तुत करने की योजना सरकार बना रही है। 100 प्रतिशत बायो-इथेनॉल पर चलने वाले फ्लेक्स वाहनों को शुरू करने के साथ ही इथेनॉल की मांग में तत्काल चार से पाँच गुना तक वृद्धि हो जाएगी।”

केंद्रीय मंत्री ने कुछ दिनों पूर्व बताया था कि सरकार पेट्रोल-डीज़ल की निर्भरात को कम करने हेतु फ्लेक्स इंजन को आगामी कुछ माह में अनिवार्य करने जा रही है। यह नियम हर तरह के वाहनों के लिए बनाया जाएगा। सभी ऑटो कंपनियों को आदेश दिए जाएँगे कि वाहनों में फ्लेक्स फ्यूल इंजन का उपयोग किया जाए।

बता दें कि भारत में सिर्फ पुणे में ही एकमात्र तीन इथेनॉल स्टेशन हैं। इसी वर्ष 5 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन ई-100 इथेनॉल डिस्पेंसिंग स्टेशन का आरंभ किया था। विशेषज्ञों के अनुसार, पायलट प्रोजेक्ट के तहत पुणे में कुछ इथेनॉल ईंधन आधारित गाड़ियाँ चलाई जा रही हैं।

विश्व भर में ब्राजील में सर्वाधिक गन्ने की पैदावार होती है। इसकी वजह से वहाँ इथेनॉल का उत्पादन अधिक मात्रा में होता है। 40 वर्ष पूर्व ब्राज़ील ने इथेनॉल पर कार्य करना शुरू किया था और वर्तमान में उसने तेल का आयात घटा दिया है।